बरेली, जेएनएन। Sensex News : वैश्विक बाजार में उछाल के बाद सेंसेक्स पहली बार 50 हजार के पार होते ही बरेली के निवेशक खुशी से झूम उठे। शेयर बाजार के एक्सपर्ट के मुताबिक बरेली के तकरीबन दो हजार निवेशकों को फायदा पहुंचा है। उनका मानना है कि बाजार में तेजी फिलहाल बनी रहेगी। लेकिन निवेशकों को संभलकर शेयर लेने की सलाह भी देते हैं।

नये साल में जनवरी निवेशकों के लिए खास साबित हो रही है। गुरूवार को आए ऐतिहासिक उछाल को बाजार एक्सपर्ट कोविड वैक्सीन की लांचिंग, किसान आंदोलन को समाप्ति की तरफ जाने के संकेत से लेकर अमेरिका में सत्ता परिवर्तन से जोड़कर देख रहे हैं। उनके मुताबिक मार्च में अपने 25638 के निचले स्तर से सेंसेक्स सिर्फ 10 महीने में करीब दोगुना हुआ है।

सबसे ज्यादा हैवीवेट रिलायंस इंडस्ट्रीज, आइसीआइसीआइ बैंक, मारूति, इंफोसिस कंपनी के शेयरों में तेजी से बाजार को सहारा मिला है। हालांकि सेंसेक्स की क्लोजिंग 167.36 अंकों की गिरावट के साथ 49624.76 अंक पर हुई। गुरूवार को कारोबार में सेंसेक्स ने 50184.01 का शीर्ष, जबकि निफ्टी ने 14753.55 के स्तर को छुआ है।

अच्छी गुणवत्ता वाली कंपनियों में निवेश करें

एमडब्ल्यूएच होल्डिंग्स के एसोसिएट डायरेक्टर रजत मेहरोत्रा सुझाव देते हैं कि खुदरा निवेशकों को हमेशा अपने क्षेत्र की अग्रणी कंपनियों में निवेश करना चाहिए। जैसे नेस्ले, हिंदुस्तान यूनिलीवर, रिलायंस, महिंद्रा एंड महिंद्रा, आइटीसी, एलएंडटी आदि।

नकारात्मक समाचार और अफवाहों पर निवेश का निर्णय न लें

उन्होंने बताया कि खुदरा निवेशकों को कंपनी की बुनियादी बातों और इसके दीर्घकालिक प्रभाव पर ध्यान देना चाहिए। नेस्ले एक ऐसा उदाहरण है कि 2015 में उत्पाद में अनियमितता के कारण स्टॉक की कीमतें गिर गई थीं, लेकिन कंपनी के पास एक अच्छी उत्पाद लाइन थी, जिसके परिणामस्वरूप वर्तमान में इसकी उच्चतम स्टॉक कीमत है।

ये कहते है एक्सपर्ट 

अमेरिकी बॉड बाजार में ब्याज दरों में गिरावट और अमेरिका, ब्रिटेन और यूरोपीय बाजारों में गिरावट का रुख रहा। न केवल भारतीय बाजार बल्कि चीन, इंडोनेशिया, जापान जैसे अन्य एशियाई बाजारों के प्रति आकर्षण पैदा हुआ, जिसके परिणामस्वरूप एक विशाल वैश्विक खरीद और शेयर बाजार को नई ऊंचाइयों को छूना पड़ा। - रजत मेहरोत्रा, एसोसिएट डायरेक्टर, एमडब्ल्यूएच होल्डिंग्स

मार्केट ओवरवैल्यू होने से एक बबल बना है। लेकिन फूट भी सकता है। कंपनी की कॉस्ट कटिंग पॉलिसी से उनकी आय बढ़ी नजर आ रही है।प्राइज टु अर्निंग अनुपात बढ़ा हुआ है। मार्केट का वैल्यूएशन ठीक है। लेकिन बाजार स्थाई नहीं रहेगा। गिरावट के साथ निवेशकों का रूझान सोने की तरफ बढ़ेगा। - आदर्श शर्मा, प्रमाणित वित्तीय सलाहकार

ये कहते है निवेशक :

बाजार में तेजी से बहुत फायदा हुआ है। मुझे लगता है ये तेजी बनी रहेगी। छोटा निवेशक बाजार में अच्छा निवेश कर रहा है। - जितेंद्र कुमार, निवेशक

आने वाले बजट पर भी निर्भरता रहेगी। बाजार में फिलहाल तेजी का माहौल है। सभी समीकरण कोविड वैक्सीन से लेकर अमेरिका में सत्ता परिवर्तन इस उछाल के पीछे वजह है। - वीरेंद्र जोशी, निवेशक

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप