बरेली, जेएनएन : सेटेलाइट चौराहे से ईसाइयों की पुलिया होते हुए मालियों की पुलिया तक एक लेन पर ट्रैफिक के चलते हालात बेकाबू हो रहे थे। सोमवार को एसपी ट्रैफिक सुभाष चंद्र गंगवार जब ईसाइयों की पुलिया के पास पहुंचे तो देखा काम कछुआ गति से चल रहा है। लोग एक ही सड़क से आने-जाने को मजबूर हैं। एसपी ट्रैफिक ने बंद की गई दूसरी लेन से रास्ता शुरू करवा दिया। सीवर लाइन का काम कर रहे कर्मचारियों से साफ कह दिया कि खाली रास्ते पर ट्रैफिक गुजरेगा।

एसपी ट्रैफिक ने बंद रास्ते पर जहां सीवर लाइन डालने का काम हो रहा था वहां डिवाइडर लगवा दिए। इधर से एक लेन पर ट्रैफिक शुरू करवा दिया। सेटेलाइट की तरफ से आने वाला रास्ता जब शुरू हुआ तो ट्रैफिक का लोड कुछ हल्का हुआ। ट्रैफिक पुलिस को भी तैनात कर दिया गया। यहां बता दें कि सुबह ईसाइयों की पुलिया पर हालात काफी बदतर हो गए थे। राज्यपाल के आने के दौरान महज दस मिनट के लिए ट्रैफिक रोका गया तो भीषण जाम लग गया। सोमवार होने के कारण भीड़ भी ज्यादा थी। लिहाजा पुलिस ने वैकल्पिक मार्ग खोज ही लिया।

सेटेलाइट चौराहे पर ओवरब्रिज के निर्माण के दौरान पहले से ही ट्रैफिक की समस्या थी। सीवर लाइन का काम शुरू होने पर वहां एक लेन बंद कर दी गई जिससे स्थिति काफी खराब हो गई थी। अब यहां डिवाइडर लगवाकर एक लेन पर ट्रैफिक गुजारना शुरू कर दिया गया है। - सुभाष चंद्र गंगवार, एसपी ट्रैफिक

इस महीने बंद नहीं होगा लाल फाटक का रास्ता 

लालफाटक मार्ग के बंद करने को लेकर चल रही जद्दोजहद के बीच सोमवार को एक राहत भरी खबर आई। फिलहाल लालफाटक वाला रास्ता इस महीने बंद नहीं किया जाएगा। सोमवार को कलेक्ट्रेट में एडीएम सिटी महेंद्र कुमार सिंह, एसपी ट्रैफिक सुभाष चंद्र गंगवार की रेल अधिकारियों के साथ बैठक हुई। बैठक में रास्ता बंद करने को लेकर बातचीत हुई। जिस पर रेल अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने काम शुरू कर दिया है। चूंकि अभी काम की शुरुआत हुई है लिहाजा काम की गति थोड़ी धीमी है। लेकिन जैसे ही काम तेजी पकड़ेगा रास्ता तो बंद करना ही होगा। अधिकारियों का कहना था कि जब तक हल्का काम चल रहा है तब तक रास्ता बंद न किया जाए। इस पर रेल अधिकारी मान गए। उन्होंने 20-25 दिनों की मोहलत यह कहते हुए दे दी कि जब तक हल्का काम है रास्ता बंद नहीं करेंगे।

यह भी पढ़ें : सुविधा के लिए ‘असुविधा’ का अंडरपासwww.jagran.com/uttar-pradesh/bareilly-city-lal-phatak-overbridge-is-inconvenience-underpass-for-convernience-bareilly-news-19517109.html

इसके अलावा बैठक में चनेहटी और फरीदपुर क्रॉसिंग को लेकर भी बातचीत हुई। कहा गया कि क्रॉसिंग का गेट काफी देर से खुलता है जिससे जाम लग जाता है। इस बारे में रेल अधिकारियों ने बताया कि दोनों ही जगह क्रॉसिंग खुलने में इसलिए देर होती है क्योंकि लॉक स्टेशन से खोला जाता है। ट्रेन आने के बाद गेटमैन सिग्नल देता है। इसके बाद स्टेशन से लॉक खोला जाता है। इसमें करीब आठ-दस मिनट लग जाते हैं। सब कुछ सिस्टम के तहत है। इसलिए इसमें कुछ नहीं किया जा सकता।

बातचीत के दौरान यह तय हो गया कि अभी आनन-फानन में लालफाटक का रास्ता रेलवे बंद नहीं करने जा रहा है। करीब 25 दिन बाद जब काम तेजी पकड़ेगा तब रास्ता बंद किया जाएगा। इससे पुलिस प्रशासन ने राहत की सांस ली है। इसके साथ ही अधिकारियों को वैकल्पिक मार्ग तलाशने के लिए कुछ और समय भी मिल गया।

अक्टूबर 2020 तक तैयार होगा ओवरब्रिज, रेलवे ने दिया जवाब

बरसों से अटका लालफाटक ओवरब्रिज अगले साल अक्टूबर महीने तक बनकर तैयार हो जाएगा। इसके अलावा बरेली में रेलवे से जुड़े कई अहम प्रोजेक्ट भी पूरे होंगे। उत्तर रेलवे महाप्रबंधक टीपी सिंह ने केंद्रीय श्रम व रोजगार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) संतोष गंगवार को हाल में भेजे पत्र में यह दावा किया है। उन्होंने बरेली स्टेशन पर यात्री सुविधाओं को लेकर कहा कि जंक्शन पर एस्केलेटर काम काम रेलवे की निर्माण इकाई कर रही है। ए-वन श्रेणी स्टेशन पर यात्रियों को बेहतर सुविधा देने के लिए एस्केलेटर इसी साल अक्टूबर और लिफ्ट का काम नवंबर महीने तक पूरा हो जाएगा। तक बनकर तैयार हो जाएगा। नगरिया सादात स्टेशन पर प्लेटफार्म नंबर दो की सतह को ऊंचा करने काम अगले दो महीने और और यहीं पर फुटओवर ब्रिज का काम नए साल से पहले पूरा हो जाएगा। 

Posted By: Abhishek Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप