बरेली, जेएनएन। दिल्ली में निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात के जलसे में भले ही जिले से कोई शामिल न हुआ हो मगर उस क्षेत्र में मौजूद लोगों की जांच जारी है। पुलिस को पता चला कि 14 से 16 मार्च के बीच वहां हुए जलसे के दौरान 19 हजार नंबरों में अब तक बरेली के 250 नंबर पाए गए हैं। इनकी जांच चल रही है। वहीं तब्लीगियों के होने की आशंका को देखते हुए अब गांवों में सर्च अभियान भी शुरू हो गया है।

दिल्ली के निजामुद्दीन क्षेत्र से लिए गए बेस ट्रांसीवर स्टेशन (बीटीएस) डाटा की छंटनी का कार्य लगातार जारी है। पहले दिन निजामुद्दीन क्षेत्र में सक्रिय 150 नंबर मिले थे। वहीं दूसरे दिन 100 और नंबर बरेली के निकले हैं। पुलिस ने जब पहले 150 नंबरों की जांच की तो उसमें 50 से अधिक नंबर ऐसे पाए गए थे जो बरेली से बाहर रह रहे है। दूसरे दिन के नंबरों डिटेल के आधार पर जांच शुरू कर दी गई है। इनमें सुभाषनगर, बड़ा बाजार, प्रेमनगर क्षेत्र के नंबर शामिल है। अब तक की जांच में सामने आया कि तब्लीगी जमात के दिल्ली में हुए जलसे में कोई शामिल नहीं था। हालांकि पुलिस को यह आशंका है कि तब्लीगी जमात के लोग बरेली में छिपे हो सकते हैं। पुलिस टीमें लगी हुई हैं। ये टीमें गांव गांव जाकर बाहर से आए व्यक्तियों, संदिग्धों की जानकारी ले रही हैं। वहीं खुफिया विभाग भी तब्लीगी जमात के लोगों की तलाश में है। एसएसपी शैलेश पांडेय ने बताया कि जो नंबर निजामुददीन क्षेत्र से मिले थे, उनकी जांच चल रही है। इनमें तब्लीगी जमात के कुछ हैं। 

Posted By: Abhishek Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस