बरेली, जेएनएन : प्रेम विवाह के बाद साक्षी व अजितेश अब दिल्ली में हैं। हाईकोर्ट के आदेश के बाद उन्हें कड़ी सुरक्षा में रखा गया है। दोनों की सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों को आधुनिक असलहों से लैस किया गया है। वे जिस घर में हैं, वहां किसी को भी आने-जाने की इजाजत नहीं है। विशेष परिस्थितियों में साक्षी व अजितेश के कहने के बाद किसी को अंदर जाने दिया जा रहा। उससे पहले तलाशी ली जाती है। इसी के साथ उन्हें सिर्फ कुछ मिनट ही परिजनों से बात करने के लिए छूट मिली है। वहीं विधायक के घर के साथ ही अजितेश के घर के आसपास खुफिया विभाग सक्रिय है।

सुरक्षा के लिए दूसरी टीम हुई रवाना

हाईकोर्ट के आदेश के बाद जो टीम साक्षी व अजितेश की सुरक्षा के लिए गई है, उसके बाद से अभी तक दूसरी टीम उनके पास नहीं भेजी गई है। बुधवार दोपहर अधिकारियों ने सुरक्षा टीम में मौजूद दारोगा से कर बात की। जिसके बाद बरेली से एक दूसरी टीम उनकी सुरक्षा के लिए रवाना किया गया है। साक्षी व अजितेश कहां हैं, यह उन्हें दिल्ली पहुंचने के बाद ही पता चलेगा।

खुफिया विभाग सक्रिय, एलआइयू करेगी जांच

ऑडियो प्रकरण के बाद विधायक समर्थकों में चर्चा रही। दोपहर को अधिकारी भी सक्रिय हुए। आनन फानन ऑडियो की सच्चाई जानने के लिए एलआइयू को सौंपा गया है। वहीं मामले की गंभीरता को देखते हुए खुफिया विभाग भी सक्रिय हो उठा है।

वायरल ऑडियो में कितनी सच्चाई जानेगी खुफिया टीम

अब तक साक्षी खुद की जान को खतरा बता रहीं थीं, नया मामला यह है कि उनके पिता की हत्या कराने की धमकी से जुड़ा एक ऑडियो वायरल हुआ है। पुलिस ने उसकी जांच शुरू कर दी। कहा है कि यदि विधायक को लगता है कि उन्हें और सुरक्षा चाहिए तो जरूर मुहैया कराई जाएगी।

हालांकि इस बाबत विधायक ने कहा कि अधिकारी खुद तय करें कि उन्हें क्या करना है। हमने सुरक्षा को लेकर कोई मांग नहीं की है। ऑडियो की हकीकत जानने के लिए खुफिया टीम भी लगाई गई। पुलिस को एक फोन रिकॉर्डिग मिली है, जिसमें दो लोग बात कर रहे। उनमें एक शख्स दूसरे को बता रहा कि अरमान गौरव से जुड़े लोग एक जगह शराब पी रहे थे। वे कह रहे थे कि गौरव तो विधायक जी की हत्या कराने की धमकी दे रहा था, बमुश्किल उसे समझाया। हवाला देते हुए बात करने वाले ने फोन पर मौजूद दूसरे शख्स से कहा कि यह घटनाक्रम रविवार का है जब गौरव का चालान किया गया।

गौरव की भूमिका तलाश रही पुलिस

दरअसल, बीडीसी सदस्य गौरव सिंह अरमान और विधायक पप्पू भरतौल के पुराने संबंध थे मगर कुछ दिनों से अनबन हो गई। साक्षी प्रेम विवाह प्रकरण के बाद विधायक ने इशारा किया था कि कुछ अपनों का हाथ है।

अजितेश के समर्थन में टिप्पणी करने वाले युवक ने मांगी माफी, हुआ समझौता

पीलीभीत के बीसलपुर में मुहल्ला दुर्गा प्रसाद निवासी सौरभ गौतम ने दो दिन पूर्व फेसबुक पर ब्राह्मण समाज के प्रति अशोभनीय भाषा की टिप्पणी पोस्ट करते हुए बिथरीचैनपुर के विधायक की बेटी से शादी करने वाले अजितेश का समर्थन किया था। ब्राह्मण समाज के लिए आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किया था। मुहल्ला बख्तरवरलाल निवासी नितिन पाठक ने आरोपित युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था, जिसकी जानकारी होने पर युवक ने देर शाम संगठन के कार्यालय पर ब्राह्मण सभा कार्यकर्ताओं के समक्ष पेश होकर माफी मांगी। लिखित माफीनामा दिया।

ऑडियो मिला है, जांच की जा रही कि कौन लोग आपस में बात कर रहे हैं। उनका विधायक से क्या ताल्लुक है और धमकी देने वाली बात में कितनी सच्चाई है। अभिनंदन सिंह, एसपी सिटी, बरेली

विधायक को धमकी प्रकरण की जांच कराई जा रही है। यदि वह कहते हैं तो उन्हें अतिरिक्त सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी। मुनिराज जी. एसएसपी, बरेली

Posted By: Abhishek Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप