बरेली, जेएनएन : बिजली गुल होते ही इलेक्ट्रॉनिक उपकरण ठंडे पड़ जाते हैं। यह दिक्कत भी रुर्बन मिशन मिशन वाले गांवों के जूनियर हाईस्कूलों की स्मार्ट क्लास में बाधा नहीं बन सकेगी। सभी 13 गांव के स्कूल सौर ऊर्जा की सुविधा से लैस होंगे। कंप्यूटर लैब बनाने में एक करोड़ चार लाख रुपये की लागत आएगी।

सीडीओ सत्येंद्र कुमार ने बताया कि रुर्बन मिशन के गांवों के 13 जूनियर हाईस्कूल में स्मार्ट क्लास बनेगी। इन स्कूल में अलग हॉल में कंप्यूटर लैब विकसित कराई जाएगी। इसमें फर्नीचर सहित पांच-पांच कंप्यूटर लगाए जाएंगे। स्मार्ट टीवी भी होगा, जिसके जरिए बच्चों को पढ़ाई कराई जाएगी।

0.5 किलोवाट का होगा सोलर प्लांट

स्कूलों में लगने वाले सौर ऊर्जा प्लांट की क्षमता 0.5 की होगी। रुर्बन मिशन के तहत उड़ला जागीर, फरीदापुर इनायत खां, भिडौलिया, गोपालपुर नगरिया अनूप, नरियावल, पदारथपुर, परातासपुर, पुरनापुर, उदयपुर जसरथपुर, सिमरा अजूबा बेगम, परसौना, आलमपुर और गजरौला शामिल हैं।

पिकनिक स्पॉट बनेंगे गांव

गांवों को भी पिकनिक स्पॉट के रूप में विकसित किया जाएगा। गांवों के प्रमुख चौराहों और तालाबों का सुंदरीकरण कराया जाएगा। पार्को को भी बेहतर व आकर्षक बनाया जाएगा।

अभी पार्को को विकसित करने के लिए गांवों में जमीन को चिह्न्ति कर रहे हैं। अन्य कार्य भी जल्द शुरू होंगे। - वीरेंद्र सिंह, परियोजना निदेशक

Posted By: Abhishek Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप