जागरण संवाददाता, बरेली। Rohilkhand University Exam News : एमजेपी रुहेलखंड विश्वविद्यालय परिसर एवं संबद्ध महाविद्यालयों में संचालित एलएलबी त्रिवर्षीय, पंचवर्षीय, एलएलएम, बीबीए, बीसीए, बिलिब, एमलिब, एमएसडब्ल्यू, पीजीडीसीए, बीकाम वित्त/वित्तीय सेवा के समस्त सम सेमेस्टर 2022 और बीएससी कृषि अष्टम सेमेस्टर के संस्थागत, भूतपूर्व/बैक परीक्षा सुधार एवं छूटी हुई प्रयोगात्मक परीक्षा तथा एमबीबीएस तृतीय प्रोफेशनल भाग एक एवं दो पूरक परीक्षा 2022 के परीक्षा फार्म 26 सितंबर से विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर उपलब्ध होंगे।

जानें क्या है परीक्षा शुल्क जमा करने की अंतिम तारीख

अभ्यर्थी 10 अक्टूबर तक आनलाइन फार्म भर सकते हैं। परीक्षा शुल्क आनलाइन जमा करने की अंतिम तारीख 11 अक्टूबर है। अभ्यर्थियों को परीक्षा आवेदन पत्र जमा करने और महाविद्यालय को आवेदन पत्रों को आनलाइन स्वीकृत करने के लिए 13 अक्टूबर तक का समय दिया गया है।

परीक्षा के अंक अपलोड करने का एक और मौका

एमजेपी रुहेलखंड विश्वविद्यालय ने मुख्य परीक्षा 2022 स्नातक एवं प्रोफेशनल तृतीय वर्ष की प्रयोगात्मक व मौखिक परीक्षाओं की तारीख एक बार फिर से विस्तारित की है। अब महाविद्यालयों को 23 सितंबर तक परीक्षाएं करवाकर विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर अंक अपलोड करने होंगे।

परीक्षा नियंत्रक संजीव कुमार सिंह ने बताया कि इससे पूर्व भी तीन बार रुवि ने छात्र हित को ध्यान में रखते हुए तारीख का विस्तार किया था। इसके बाद भी तमाम महाविद्यालयों ने अभी तक संबंधित छात्रों के प्रयोगात्मक/मौखिक परीक्षाओं के अंक विवि के पोर्टल पर अपलोड नहीं किए हैं।

छात्र हित में विश्वविद्यालय ने एक अंतिम मौका देने का काम किया है। इसके बाद भी अंक अपलोड करने का काम अगर महाविद्यालय नहीं करते हैं तो इसका उत्तरदायित्व संबंधित महाविद्यालय का होगा और उनका परीक्षा फल घोषित करने पर रुवि प्रशासन कोई विचार नहीं करेगा। रुवि के परीक्षा नियंत्रक ने ऐसे महाविद्यालयों की सूची भी जारी की है जिन्होंने स्नातक एवं प्रोफेशनल तृतीय वर्ष की प्रयोगात्मक परीक्षाएं अभी तक नहीं कराई हैं।

स्कूलों में अब लगेगी शिक्षकों की योग्यता की तख्ती

शिक्षकों को लेकर लोगों में सकारात्मक विचार रहें और उनका गौरव बढ़ता रहे, इसके लिए बेसिक शिक्षा विभाग ने नई पहल शुरू की है। परिषदीय विद्यालयों और बा स्कूलों में प्रधानाध्यापक के कार्यालय के बाहर ‘हमारे शिक्षक बोर्ड’ लगवाया जाएगा। इस पर प्रधानाध्यापक की तस्वीर, शैक्षिक योग्यता, प्रशिक्षण योग्यता, मानव संपदा आइडी और उनकी नियुक्ति विद्यालय में कब हुई ये बिंदु अंकित होंगे।

अगर, उन्हें किसी तरह का पुरस्कार मिला है तो भी लिखा जाएगा।बीएसए विनय कुमार ने बताया कि विद्यालय को बोर्ड लगाने के लिए 500 रुपये अनुमन्य हैं। इसके लिए विद्यालय कंपोजिट ग्रांट मद से धन लिया जाएगा। एक बोर्ड पर अधिकतम छह शिक्षकों का विवरण अंकित होगा।

शिक्षकों की प्रोन्नति या अन्य उपलब्धि उप उसे सुधारा भी जाएगा। विभागीय अधिकारी, जनपदीय टास्क फोर्स, ब्लाक स्तरीय टास्क फोर्स व अकादमिक रिसोर्स पर्सन की ओर से विद्यालयों के निरीक्षण और सहयोगात्मक पर्यवेक्षण के दौरान इस बोर्ड का अवलोकन भी जरूर किया जाएगा।

Edited By: Samanvay Pandey