बरेली, जेएनएन। UP Roadways Workshop : बरेली के रोडवेज वर्कशाप पर बुधवार को चालक परिचालको ने जमकर हंगामा किया। हंगामा कर रहे चालक परिचालकों ने वर्कशाप के फोरमैन पर कोरोना कहने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि फोरमैन उन्हें वर्कशाप के अंदर आने से मना करते है। हंगामा करने की जानकारी मिलते ही एआरएम चीनी प्रसाद सहित कई अधिकारी व पुलिस कर्मी मौके पर पहुंचे। जहां उन्होंने दोनो कर्मचारियों को समझा बुझाकर मामले को शांत करा दिया। हांलाकि कमेंट बाजी को लेकर अब भी चालक और परिचालकों में आक्रोश है।

कोरोना कहने पर भड़के चालक 

रोज की भांति बुधवार को भी सेटेलाइट बस अडडे के समीप बने रोडवेज वर्कशाॅप पर चालक परिचालक बस को सैनिटाइज कराने के लिए पहुंचे। इस दौरान वर्कशॉप पर उपस्थित फोरमैन ने चालक और परिचालक को परिसर में प्रवेश करने से रोक दिया। कई दिनों से चल रहे इस घटनाक्रम को लेकर बुधवार को चालक और परिचालक आक्रोशित हो उठे। इसके बाद उन्होंने रोडवेज वर्कशॉप पर हंगामा करना शुरू कर दिया। चालक और परिचालकोें के हंगामा करने की जानकारी मिली तो अन्य चालक और परिचालक भी मौके पर पहुंच गए।

एआरएम ने समझाकर कराया शांत 

आक्रोशित चालक और परिचालकों के उग्र तेवरों को देख वर्कशॉप पर तैनात कर्मचारियाें ने हंगामा करने की सूचना रोडवेज के आलाधिकारियों को दी। जानकारी मिलते ही रोडवेज के अधिकारियों में हड़कंप मच गया। जिसके बाद आरएम चीनी प्रसाद सहित अन्य अधिकारी और पुलिस मौके पर पहुंच गई। जहां उन्होंने चालक और परिचालकों को समझाने की कोशिश की। हंगामा कर रहे चालक परिचालकाें ने आरोप लगाया कि फोरमैन उन्हें कोराेना कहते है। इसके साथ ही परिसर में घुसने से भी मना करते है। मामले में रोडवेज के अधिकारियों ने हंगामा कर रहे कर्मचारियो को समझा बुझाकर शांत करा दिया।

कर्मचारियों के बीच आपस में गलत फहमी हो गई थी। दोनों पक्षों को शांत करा दिया। चीनी प्रसाद, एआरएम बरेली