बरेली,जेएनएन ऑल इंडिया इत्तेहाद-ए-मिल्लत काउंसिल के अध्यक्ष मौलाना तौकीर रजा खां पर भड़काऊ बयानबाजी करने पर दर्ज मुकदमे को लेकर पार्टी की बैठक हुई। बरेली व मुरादाबाद मंडल के पदाधिकारियों ने फैसला लिया कि सम्भल जाकर गिरफ्तारी दी जाएगी लेकिन अभी तारीख तय नहीं की है। साथ ही नागरिकता संशोधन कानूनी सीएए, एनपीआर और एनआरसी का विरोध भी जारी रखने की बात तय हुई है। 

कार्यालय पर आयोजित बैठक में राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ. नफीस खां ने कहा कि मौलाना पर मुकदमा दर्ज करके सच की आवाज को दबाने का प्रयास किया गया है। उन्होंने कहा कि हजार मुकदमे दर्ज हो जाएं, पर सीएए, एनपीआर और एनआरसी का विरोध जारी रखा जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि संवैधानिक पदों पर बैठे लोग कुछ भी कह रहे हैं लेकिन उन पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

मौलाना ने रविवार देर शाम सम्भल जाकर वहां धरना दे रहे लोगों को समझाने का प्रयास किया तो उन पर सोमवार को मुकदमा दर्ज करा दिया गया था। साथ ही मांग उठाई कि दिल्ली के मुख्यमंत्री को आतंकवादी कहने और सीएए व एनआरसी के खिलाफ धरना देने वाली महिलाओं के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग करने वालों पर भी मुकदमे दर्ज होने चाहिए।

बैठक में प्रदेश प्रभारी जुनैद रजा खां, मुरादाबाद के जिलाध्यक्ष बाबू शराफत, पीलीभीत के जिलाध्यक्ष युसूफ मलिक, रामपुर के जिलाध्यक्ष शुऐब, बदायूं के जिलाध्यक्ष अरशद बाबा इत्यादि मौजूद रहे।  

Posted By: Ravi Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस