जेएनएन, पीलीभीत : पीलीभीत में पानी से भरी बाल्टी उठाने से मना करना एक मह‍िला को मंहगा पड़ गया। जिसकी कीमत उसे गर्भपात के जरिए चुकानी पड़ी। मह‍िला ने आरोप लगाया हैं कि ससुराल‍ियों ने ताकत का इंजेक्शन लगवाने के बहाने उसका जबरन गर्भपात करा दिया। मामले की गंभीरता को देखते हुए पु‍लि‍स ने आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरु कर दी है। 

पानी भरी बाल्टी उठाने से किया था इन्कार 

कोतवाली थाना क्षेत्र के चंदोई ग्राम में रहने वाली मैसर गौहर पुत्री शाहबुद्दीन  गौहर ने पुलिस को शिकायती पत्र देते हुए बताया कि उसकी शादी गुलजार पुत्र मो. नबी निवासी खेरुल्ला शाह मोहल्ला से हुई है। पांच फरवरी को उसके ससुराली जनों ने पानी से भरी बाल्टी उठाने को कहा। जिस पर गर्भवती होने की बात कह कर उसने वजन उठाने की बात कह कर मना कर दिया। पी‍ड‍िता का आरोप है कि इस बात को लेकर उसके पत‍ि ने उसकी पिटाई कर दी। 

ताकत के इंजेक्शन के बहाने कराया गर्भपात

मैसर ने बताया कि अगले द‍िन ससुराली जनों ने कुछ महिलाओं को घर बुलवाया। जिन्होंने कमजोरी होने की बात कहते हुए ताकत का इंजेक्शन लगाने की सलाह दी। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि उससे बच्चे को भी फायदा होगा। यह कहते हुए उसे ताकत का इंजेक्शन लगवा दिया। मैसर का आरोप है कि उसके बाद वह बेहोश हो गई थी।जब उसे होश आया तो ससुराली जनों ने बताया कि उसका गर्भपात करा दिया गया है। उन्हें अभी बच्चा नही चाहिए।  

ससुरालियों के खिलाफ दर्ज किया मामला 

मह‍िला का कहना है कि हालत बिगड़ने पर मामले की जानकारी मायके वालों को दी। जिसके बाद वह अपने मायके चली आई।पुलिस ने पीडिता की तहरीर पर पत‍ि गुलजार, सास रजि‍या बेगम, ननद नाज‍िश, गुडि‍या व एक अज्ञात मह‍िला के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। 

Posted By: Ravi Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस