बरेली, जेएनएन। Ram Mandir Nirman: अयोध्या में राम मंदिर का अक्स भक्तों के हृदय में स्थापित है। रामदूतों की आरती और पुष्प अर्पित करने के बाद मंदिर के लिए समर्पण निधि दी जा रही है। मंगलवार तक दो करोड़ मंदिर फंड में आ चुके थे, यह दान बढ़कर 3.90 करोड़ पहुंच गया है। विहिप और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने खुशलोक अस्पताल के सभागार में प्रेसवार्ता करके यह जानकारी दी।

बताया कि बरेली जिले के सभी हिंदू परिवारों तक पहुंचने का संकल्प पूरा करने के लिए अब अभियान 27 फरवरी यानी बसंत पंचमी तक चलाया जाएगा। प्रेसवार्ता के दौरान आम जनता की भागीदारी के साथ सांसद और विधायकों की सहभागिता पर प्रश्न पूछा गया। इस पर विहिप विभाग अध्यक्ष पवन अरोड़ा ने कहा कि मंदिर के लिए मिलने वाले दान को गोपनीय रखा जा रहा है।

इसलिए जनप्रतिनिधि हो या आम रिक्शा चालक किसी के नाम की घोषणा नहीं की जा रही है। मंदिर के लिए 10 रुपये मिले या एक करोड़, सभी का सम्मान है। उन्होंने बताया कि जनप्रतिनिधियों से दान आ चुके हैं। किसी का दान छह अंक से कम नहीं है। प्रेसवार्ता के दौरान विभाग प्रचार प्रमुख डॉ. विनोद पागरानी, विभाग संगठन मंत्री रामाशंकर, निधि प्रमुख विवेक अग्रवाल, आरएसएस महानगर प्रचारक विक्रांत मौजूद रहे।

भक्त खुद पूछ रहे, हमारे घर रामदूत कब आएंगे : समर्पण निधि के लिए 5.30 लाख परिवारों से संपर्क किया जाना था। इस परिपेक्ष्य में तीन लाख परिवारों से संपर्क किया जा चुका है। प्रचार प्रमुख आलोक प्रकाश ने बताया कि भक्त खुद फोन करके पूछ रहे हैं कि हमारे घर रामदूत कब पहुंचेंगे। रसीद और कूपन खत्म होने के बारे में उन्होंने बताया कि सामग्री बरेली पहुंच चुकी है।

हर बस्ती में लगेंगे स्टॉल : शाहजहांपुर में राममंदिर के लिए दान लेने वाले फर्जी गिरोह के पकड़े जाने पर विहिप पदाधिकारियों ने कहा, बरेली नगर, बहेड़ी और आंवला में लगातार निगरानी चल रही है। रामभक्तों के साथ छल नहीं होने दिया जाएगा। अब आगामी योजना में महानगर की हर बस्ती में स्टॉल और कैनोपी लगाकर छूटे हुए लोगों को अभियान से जोड़ेंगे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप