बरेली, जेएनएन। Mission Shakti Abhiyan : बालीवुड अभिनेता अनिल कपूर अभिनीत फिल्म ‘नायक’ जैसा नजारा शुक्रवार को जिले में दिखाई दिया। गुरुवार को जिले की 12 मेधावी बेटियों ने भी अलग-अलग अफसरों की जिम्मेदारी उठाते हुए कुर्सी पर कुछ वक्त बिताया। हालांकि पांच से दस मिनट के दौरान कोई फरियाद या किसी मामले का निस्तारण नहीं हुआ। हालांकि बेटियों ने विभागों के असर अधिकारियों से कामकाज की जानकारी जरूर ली।

दरअसल, मिशन शक्ति अभियान एवं बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के तहत बालिकाओं को सशक्त एवं सफल बनाने के लिए शुक्रवार को ‘नायिका मेगा इवेंट’ का आयोजन किया गया। इसमें राजकीय बालिका इंटर कालेज (जीजीआइसी) की राष्ट्रीय सुरक्षा योजना की छात्राओं को एक दिन का सांकेतिक अधिकारी बनाया गया। छात्राओं ने अधिकारियों की कुर्सी संभाली और जनता की फरियाद सुनी। अधिकारियों के कार्यक्षेत्र व उनकी कार्यशैली के बारे में जाना। इस दौरान मिशन शक्ति अभियान की नोडल अधिकारी व जिला प्रोबेशन अधिकारी नीता अहिरवार भी साथ मौजूद रहीं।

बेटियां जो इन विभागों की बनीं सांकेतिक अधिकारी 

राष्ट्रीय सुरक्षा योजना की छात्रा भूमिका गौतम ने सीडीओ, अनमता ने एसपी (ग्रामीण), पूजा गुप्ता ने नगर मजिस्ट्रेट, कौशकी ने डीआइओ एनआइसी, अंजली वर्मा ने परियोजना निदेशक ग्राम विकास अभिकरण, हिमानी ने जिला विकास अधिकारी, सुहानी ने उपायुक्त मनरेगा, कशिश राठौर ने कोषाधिकारी, पलक ने जिला विद्यालय निरीक्षक, संध्या सिंह ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, सानिया ने जिला प्रबोशन अधिकारी, अंजली वर्मा ने परियोजना निदेशक ग्राम विकास अभिकरण की कुर्सी संभाली।

राजमिस्त्री की बेटी अनमता बनीं पांच मिनट की एसपी देहात 

मिशन शक्ति के नायिका अभियान के तहत शुक्रवार को राजकीय कन्या इंटर कालेज की छात्रा अनमता पांच मिनट की एसपी देहात बनीं। सुभाषनगर के पुरवा बब्बन खां की रहने वाली अनमता के पिता खुर्शीद खां राजमिस्त्री हैं। मां शहरून निशा हैं गृहिणी हैं। पांच भाई बहनों में अनमता बड़ी हैं। उनके चार भाई उवैश, सुहेल, जुबेर व उजेब हैं। चार्ज संभालते ही अनमता ने एसपी देहात राजकुमार अग्रवाल से सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी व इंटरव्यू के संशय को दूर किया। अनमता के सवाल पर एसपी देहात राजकुमार अग्रवाल ने कहा कि परीक्षा के लिए नियमित तैयारी के साथ इंटरव्यू के समय आत्मविश्वास बेहद जरूरी है। हमें बिल्कुल भी घबराने की जरूरत नहीं है।

दो बजे के बाद अनमता ने कार्यभार संभाला। लिहाजा, कार्यालय में उनका किसी फरियादी से कोई सामना नहीं हुआ। ऐसे में उनके साथ आई सहयोगी छात्राओं और अनमता ने एसपी देहात राजकुमार अग्रवाल से पुलिसिंग के संबंध में कई सवाल किये। छात्रा ने पूछा कि गंभीर अपराध होने की दशा में पीड़ित कार्यालय पहुंचे, अधिकारी न मिलें तो ऐसी दशा में क्या करना चाहिए। एसपी देहात ने कहा कि घटना होने पर तुरंत कार्यालय भागने की जरूरत नहीं है। हेल्पलाइन नंबर डायल 112, 1090, 1098 पर फोन कर शिकायत दर्ज कराए, सूचना पर तुरंत ही अमल होगा। कार्रवाई होगी, मदद मिलेगी। चौकी से लेकर थाना स्तर तक की कार्यप्रणाली छात्राओं को समझाई गई। 

छात्राओं ने अधिकारियों के कार्यक्षेत्र को जाना, लोगों की सुनी समस्या

सांकेतिक अधिकारी सीडीओ भूमिका गौतम ने जनपद में विकास कार्यों की समीक्षा से संबंधित योजनाओं के विषय में पूछा। सीडीओ चंद्र मोहन गर्ग ने सभागार में समीक्षा बैठक में बुलाकर जानकारी दी। फिर विकास भवन के समस्त कार्यालयों का भ्रमण किया गया। पूजा गुप्ता ने नगर में प्रशासनिक व्यवस्था एवं शांति सौहार्द बनाए रखने के बारे में जानकारी ली। बालिका अनमता को पुलिस अधीक्षक ग्रामीण ने पुलिस हेल्पलाइन नंबर 112-आपात सेवाएं, 1090-वीमेन पावर लाइन, 181-महिला हेल्पलाइन के संबंध में बताया। पाक्सो एक्ट के विषय में बताया एवं साइबर क्राइम से बचने के उपाय बताए। बालिका अंजली वर्मा ने स्वयं सहायता समूह की जानकारी ली।

बालिका संध्या सिंह ने शिक्षा की स्थिति का जायजा लिया। बालिका पलक ने माध्यमिक शिक्षा के स्तर एवं कालेजों के संबंध में जानकारी ली। बालिका कशिश राठौर को जनपद के समस्त अधिकारियों, कर्मचारियों के वेतन, पेंशन के कार्यों के बारे में बताया गया। बालिका सुहानी ने जनपद में निर्माण होने वाले रास्तों एवं विकास कार्यों के संबंध में जानकारी ली। बालिका कौशकी ने कम्प्यूटर तकनीकी एवं इंटरनेट सेवा के बारे में पूछा। बालिका हिमानी सक्सेना ने विकास खंडों में हो रहे विकास कार्यों की जानकारी ली। छात्रा सानिया ने सभी स्टाफ की उपस्थिति पंजिका का अवलोकन किया।

Edited By: Ravi Mishra