जागरण संवाददाता, बरेली : सुभाष नगर पुलिया पर ओवरब्रिज की संभावना को प्रशासन की हरी झंडी मिलते ही रेलवे भी इसी ट्रैक पर दौड़ने लगा। रेलवे ने सुभाष नगर पुलिया की पूरी साइट का फिजिबिलिटी सर्वे (संभावना) कराया है। उत्तर रेलवे के मुरादाबाद मंडल डीआरएम के माध्यम से इंजीनिय¨रग विभाग ने रेलवे बोर्ड को प्रस्ताव भेज दिया। उधर, एसडीएम की रिपोर्ट के बाद एडीएम सिटी ओपी वर्मा ने रेलवे से संभावित पुलिस का तकनीकी ड्राफ्ट और एस्टीमेट मांगा है।

शहर में उत्तर रेलवे और पूर्वोत्तर रेलवे की लाइन के पास बसे मुहल्लों और बड़ी आबादी के आने-जाने के मुख्य रास्ते सुभाष नगर पुलिया पर ओवरब्रिज की मांग पर प्रशासन ने मौके की जांच कराई है। सदर तहसील के तहसीलदार ने अपनी जांच में पुलिया से रोजाना आने-जाने वाले लोगों, वाहनों की संख्या के आधार पर इसकी महत्ता। बारिश के दिनों जलभराव और पुलिया के नीचे पानी भरने से परेशानी। जाम की स्थिति के साथ पूरा आंकलन किया। और रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण आवश्यक होने के साथ रिपोर्ट दी थी। एसडीएम के स्तर से यही रिपोर्ट डीएम तक को भेजी गई है।

मालगोदाम से चढ़कर रेलवे ग्राउंड पर उतार

केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार के डीआरएम को लिखे गए पत्र के बाद ही मुरादाबाद मंडल के वरिष्ठ मंडल इंजीनियर (ब्रिज) की टीम ने पुलिया का परीक्षण किया। नीचे अंडरपास की संभावना शून्य पाई गई। ओवरब्रिज के लिए संभावनाएं तलाशी गई। पूरा ट्रैक और ओएचई लाइन इसी प्रस्तावित पुल के नीचे से निकालने की संभावना भी देखी गई।

सूत्रों के मुताबिक पुल प्रस्तावित पुल की रफ ड्राइंग तैयार कर लिया गया है। इसमें पुल सुभाष नगर थाने के सामने रेलवे मालगोदाम साइड की तरफ से चढ़ेगा। भीतर आरपीएफ स्टाफ क्वार्टर के बीच में इसके पिलर आएंगे। पुलिया और ट्रैक पार कर यह ओवरब्रिज सुभाष नगर साइड में रेलवे ग्राउंड पर उतारा जा सकता है। हालांकि, अधिकृत तौर पर सारी कवायद रेलवे बोर्ड की हरी झंडी के बाद ही जमीन पर उतरेगा।

वर्जन..

सुभाष नगर पुलिया पर एसडीएम की रिपोर्ट के बाद अन्य प्रक्रिया पूरी पर काम चल रहा है। रेलवे से एस्टीमेट मांगा गया है। पुलिया पर ओवरब्रिज के संबंध में विभाग जो रिपोर्ट देगा उसी अनुसार आगे काम होगा।

-ओपी वर्मा, एडीएम सिटी

By Jagran