जेएनएन, बरेली : जोगी नवादा से शुक्रवार शाम को अपहृत मुकेश का पुलिस शनिवार को भी पता नहीं लगा सकी। न ही अपहरणकर्ताओं का कोई सुराग लगा, जबकि वह परिजन को दूसरे दिन भी फिरौती और धमकी के मैसेज भेजते रहे। कॉल कर मुकेश के रोने की आवाज भी सुनवाई। परिजन दहशत में हैं। पुलिस अपहरणकर्ताओं के फोन की लोकेशन तक ढूंढ पाई।

पीलीभीत का मूल निवासी है मुकेश 

मुकेश मूल रूप से पीलीभीत में माधोटांडा के अभयपुर का निवासी है। यहां जोगीनवादा में पत्नी गुड़िया व परिवार के साथ रह रहा है। शुक्रवार को पीलीभीत बाईपास स्थित अस्पताल में ड्यूटी जाने की कहकर निकला था। तब से नहीं लौटा। शाम को उसके बहनोई अरुण के मोबाइल पर पांच लाख फिरौती का मैसेज आया था। उसके मोबाइल की आखिरी लोकेशन मुरादाबाद की मिली थी।
उलझी है नौकरी की गुत्थी भी : मुकेश खुद को पीलीभीत बाईपास स्थित अस्पताल का कर्मचारी बताता था। पड़ताल में शुक्रवार को अस्पताल के डॉक्टरों ने इस नाम का कोई कर्मचारी होने से ही मना कर दिया था। मुकेश की पत्नी सरस्वती उर्फ गुड़िया का कहना है कि वह नौकरी के लिए ही बरेली आया था। भाई रामू का दावा है कि शुक्रवार को ही मुकेश को अस्पताल से तनख्वाह के 16 हजार रुपये मिले थे। उसने मकान मालिक फोन से बात कर पत्नी को वेतन मिलने की बात भी बताई थी। यह भी कहा था कि दोपहर में एक ऑपरेशन के बाद घर आ जाएगा।

बहनोई के पास मैसेज, ससुर के पास कॉल
शुक्रवार को एक मैसेज आया था। शनिवार को बहनोई के पास सुबह 9.08, 9.33 व 10.27 बजे धमकी भरे तीन मैसेज आए। लिखा था कि ‘अब देखता हूं इसके पापा के बदमाशों को, पांच लाख का इंतजाम करो।’ मुकेश के भाई रामू के पास भी ऐसे ही मैसेज आए, जबकि दोपहर करीब 12 बजे उसके ससुर के मोबाइल पर कॉल आई और मुकेश के रोने की आवाज सुनवाई। फोन पर मुकेश कुछ बोल नहीं सका। खास बात, यह मैसेज और कॉल मुकेश के नंबर से ही आ रहे हैं। छानबीन में पता चला मुकेश ने कुछ दिन पहले ही यह नया सिम लिया था। ज्यादातर रिश्तेदारों के पास यह नंबर नहीं था। कॉल करने पर घंटी जाती है, लेकिन फोन नहीं उठ रहा।

मुकेश के फोन की लोकेशन मुरादाबाद मिली थी। मैसेज व कॉल के आधार पर फोन की सही लोकेशन तलाश की जा रही है। तलाश के लिए टीमें गठित की हैं। परिवार के सदस्यों और परिचतों से भी जानकारी कर रहे हैं। अन्य सभी पहलुओं पर भी पड़ताल की जा रही है। - कुलदीप कुमार, सीओ तृतीय 

Posted By: Abhishek Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस