जेएनएन, बरेली : गणेशनगर में बुधवार देर रात हुई सर्राफ की हत्या भाड़े के हत्यारों ने की थी। सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद पुलिस का कहना है कि हत्या करने वाले दोनों युवकों का मकसद सिर्फ सर्राफ की जान लेना था। इसीलिए आते ही गोलियां दाग दीं। इस प्रकरण में पुलिस करी‍ब‍ियों से पूछताछ कर रही है, जिनसे अहम सुराग मिलने की संभावना जताई जा रही है। पुलिस हत्या के साजिशकर्ता की तलाश कर रही है।

बुधवार रात साढ़े दस बजे गणेशनगर में कमल ज्वैलर्स के मालिक कमल किशोर वर्मा की दुकान के अंदर ही हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने रात में ही पोस्टमार्टम और उनके भाई प्रवीण की तहरीर पर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया। रात में ही पुलिस ने दो संदिग्धों को पूछताछ के लिए उठा लिया था। इसके बाद गुरुवार दोपहर को पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत में लिया। जांच संपत्ति और लेनदेन के विवाद पर टिकी है।

मौके पर पहुंचे एडीजी बोले, जल्द करें राजफाश

एडीजी अविनाश चंद्र गुरुवार को घटना स्थल गणोश नगर पहुंचे। दुकान के अंदर और बाहर का जायजा लिया। इसके बाद लोगों से पूछताछ की। मौके पर मौजूद एसपी सिटी र¨वद्र सिंह और सीओ द्वितीय सीमा यादव को निर्देश दिए कि जल्द वारदात का राजफाश करें।

सर्राफ की हत्या से ठीक पहले सीसीटीवी में कैद हुए इसी युवक के पास थे दोनों तमंचे व मौके पर तमंचे लिए 

सर्राफ के सीने में फंसी थी गोली

पुलिस ने रात में ही सर्राफ के शव का पोस्टमार्टम कराया। जिसमें पाया गया कि सर्राफ की मौत सीने में गोली फंसने से हुई थी। पोस्टमार्टम में शरीर में एक ही गोली फंसी मिली। जबकि चेहरे व आंख समेत शरीर में कई जगह गोली के र्छे लगे थे।

दुकान से मिली शराब की बोतल

पुलिस की टीम मामले की जांच पड़ताल कर रही थी। उसी दौरान दुकान की चेकिंग की गई तो वहां शराब की बोतलें रखी मिलीं। पुलिस ने दुकान के ऊपर बने कमरे को जाकर भी बारीकी से देखा है। जहां से पुलिस ने कुछ अन्य साक्ष्य भी जुटाए हैं।

सामने आए चेहरे स्थानीय नहीं

सीसीटीवी फुटेज में जो दो युवक दिख रहे हैं। वह नई उम्र के हैं। उनका हुलिया आदि मिलान कराने के बाद वह स्थानीय प्रतीत नहीं हो रहे हैं। ऐसे में पुलिस की टीमें बदायूं, पीलीभीत व आसपास के अन्य जिलों में हत्यारों की तलाश में जुटी हैं।

सर्विलांस से ली जा रही मदद

हत्या के पीछे दो ही वजह सामने आ रहीं है। वह दोनों वजह ही नजदीकी की ओर इशारा कर रहीं हैं। ऐसे में साफ है कि नजदीकी व्यक्ति मोबाइल या किसी अन्य माध्यम से कमल किशोर के संपर्क में होगा। इसके चलते जांच में सर्विलांस टीम का भी सहारा लिया जा रहा है।

घटना स्थल का मौका मुआयना किया है। वारदात को अंजाम देने वाले भाड़े पर बुलाए हुए लग रहे हैं। हत्या किसने कराई इसकी जानकारी की जा रही है। एसएसपी के नेतृत्व में पुलिस टीमें राजफाश के लिए लगी हुई हैं। उन्हें जल्द राजफाश के निर्देश दिए गए हैं।

- अविनाश चंद्र, एडीजी

Posted By: Ravi Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस