बरेली (जेएनएन)। अलखनाथ मंदिर में जलाभिषेक के लिए डाक कांवड़ ले जाने से रोकने पर पुलिस से हुए विवाद के बाद कांवड़ियों ने जमकर हंगामा किया। एक कांवड़िए पर पुलिसकर्मी ने डंडा चला दिया तो कांवड़िए आपे से बाहर हो गए। मंदिर से बाहर आकर वहां मौजूद पुलिस की जीप को पलट दिया। कांवड़ियों और पुलिसकर्मियों के बीच जमकर मारपीट हुई। पुलिसकर्मियों को अपनी जान बचाकर भागना पड़ा। सूचना पर एसएसपी और आईजी भी मौके पर पहुंच गए और समझाबुझाकर हंगामा शांत कराया।

शरद यादव ने कांवड़ यात्रा को बताया-बेरोजगारों की भीड़

सावन के तीसरे सोमवार को अलखनाथ मंदिर में भगवान शिव का जलाभिषेक करने के लिए कांवड़ियों की भीड़ लगी थी। सुबह डाक कांवड़ अलखनाथ मंदिर में दर्शन के लिए जा रही थी। इस दौरान डाक कांवड़ को पुलिसकर्मियों ने रोक दिया। दोनों पक्षों में जमकर नोंकझोंक हुई। आरोप है कि एक पुलिसकर्मी ने कांवड़िए को डंडा मार दिया। इसपर हंगामा हो गया।

कांवड़ यात्रा में डीजे तथा संगीत तो धर्म से जुड़ा मामला : संजीव बालियान

दरअसल मंदिर में अब तक मंदिर में कांवड़ियों की लाइन लगाने और जल चढ़ाने की व्यवस्था के लिए मंदिर के किसी साधुओं को लगाया जाता रहा। इस बार प्रशासन ने मंदिर में पुलिस की तैनाती कर दिया। डाक कांवड़ को रोके जाने पर विवाद इतना बढ़ा कि कई पुलिसकर्मी पिटे और पुलिस जीप में तोड़फोड़ के बाद बाइक में आग लगा दी गई। तीन घंटे तक सड़क पर हंगामा चलता रहा।

वेस्ट यूपी में अब हेलीकाप्टर से होगी कांवड़ यात्रा की निगरानी

हंगामे के सूचना पर पहले एसपी सिटी मौके पर गए इसके बाद एसएसपी और आईजी मौके भी पहुंच गए। अधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत है। एहतियातन पुलिस तैनात की गई है।कांवड़ियों के विवाद को देखते हुए द्रौपदी कन्या इंटर कॉलेज की छुट्टी कर दी गई।

Posted By: Ashish Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप