बरेली, जेएनएन। बिहार के राजगीर से नई दिल्ली जा रही श्रमजीवी सुपरफास्ट एक्सप्रेस में सफर कर रहे यात्री की मौत हो गई। हरदोई के बालामऊ के पास यात्री की तबीयत बिगड़ गई थी। शाहजहांपुर के रोजा जंक्शन पर ट्रेन को रोककर शव को नीचे उतारा गया। बिहार के भोजपुर जिले के तरैया थाना क्षेत्र के आटेला गांव निवासी वीरेंद्र प्रसाद को टीबी थी। उनका दिल्ली से इलाज चल रहा था।

सोमवार को स्वजन के साथ दिल्ली जा रहे थे। वीरेंद्र और उनकी पत्नी मायादेवी एसी कोच में थे। जबकि बेटा मुकेश और अन्य स्वजन जरनल कोच में श्रमजीवी एक्सप्रेस से सफर कर के साथ रहे थे।हरदोई के बालामऊ स्टेशन के निकलने के बाद वीरेंद्र प्रसाद की तबीयत अचानक बिगड़ने लगी। मायादेवी ने चेन खींच ली और बेटे मुकेश को फोन से पूरी बात बताई। जिसके बाद टीसी ने रेलवे कंट्रोल को इस बारे में सूचना दी।

हरदोई स्टेशन पर डॉक्टर की व्यवस्था न होने पर कंट्रोल रूम के निर्देश पर ट्रेन को रात करीब 10 बजकर 40 मिनट पर रोजा जंक्शन पर रोका गया। जहां पहुंचे रेलवे के डॉ संजय राय ने वीरेंद्र को मृत घोषित कर दिया। जीआरपी और आरपीएफ की टीम ने शव को स्वजन के साथ ट्रेन से नीचे उतारा। इस दौरान ट्रेन करीब 15 मिनट स्टेशन पर खड़ी रही।

Edited By: Samanvay Pandey