बरेली, अनुज मिश्र। Panchayat Election News : अफवाहों से निपटने में लोकसभा चुनाव में कारगर साबित हुआ सी-प्लान एप अब पंचायत चुनाव में भी पुलिस का हथियार बनेगा। गांवों में पंचायत चुनाव की सरगर्मी बढ़ गई है। हर घटना पंचायत चुनाव से जोड़कर बताई जा रही है। पल भर में अफवाहों का दौर गर्म हो रहा है। ऐसे में अफवाह पर लगाम लगाने के लिए सी-प्लान एप के इस्तेमाल में पुलिस तेजी लाएगी। इस एप में गांवों-कस्बों में पुलिस की ओर से बनाए गए दस-दस संभ्रात लोगों के नंबर फीड हैं।

लोकसभा चुनाव में सी प्लान एप लांच किया गया था। एप में गांव-कस्बा स्तर तक पुलिस की ओर से दस-दस संभ्रांत लोगों की सूची बनाई गई है। एप में इनके नाम के साथ उनके मोबाइल नंबर भी हैं। किसी भी गांव या कस्बे में यदि कोई घटना घटित होती है या अफवाह फैलती है तो सच को जानने के लिए एप के जरिए पुलिस सीधे इन संभ्रांत लोगों में से किसी को फोन लगा सकेगी या मैसेज कर सकेगी।

एक क्लिक पर नंबर उनके सामने होंगे। इस नंबर पर फोन कर पुलिस उनसे घटना का पूरा फीडबैक लेगी। इससे पुलिस को जहां काफी सहूलियत होगी, वहीं अफवाहों पर विराम लगने से आमजन भी राहत महसूस करेगा। एप डीजीपी कंट्रोल रूम के साथ डायल 112 से भी जुड़ा है। दोनों कंट्रोल रुम 24 घंटे सक्रिय रहते हैं।

एप किया जा रहा है अपडेट: पंचायत चुनाव को देखते हुए एप को अपडेट किया जा रहा है। लोकसभा चुनाव के प्रत्येक गांव व कस्बों के जिन दस-दस संभ्रांत लोगों के नंबर एप पर दर्ज किए गए थे। अब वर्तमान स्थिति देखी जा रही है कि संबंधित व्यक्ति उस गांव व कस्बे में है या नहीं। नई जानकारी के अनुसार ही प्रत्येक गांव व कस्बे का ग्रुप बनाया जाएगा।

एप ऐसे करता है काम : एंड्रायड फोन पर एप डाउनलोड करने के बाद संबंधित पुलिसकर्मी को सीयूजी नंबर दर्ज करना होता है। सीयूजी नंबर दर्ज करने के बाद मोबाइल पर ओटीपी आता है। ओटीपी अंकित करते ही एप सक्रिय हो जाता है।

लोकसभा चुनाव में सी-प्लान एप काफी कारगर साबित हुआ था। अब पंचायत चुनाव में इस एप का इस्तेमाल किया जाएगा। पंचायत चुनाव को देखते हुए ही एप के अपडेशन का कार्य किया जा रहा है।- रोहित सिंह सजवाण, एसएसपी 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप