जेएनएन, बरेली : सऊदी अरब में रमजान माह एक दिन पहले शुरू हो गया था। वहां ईद का चांद शुक्रवार को नहीं दिखा। तभी से संभावना जताई जा रही थी कि भारत में ईद का त्योहार सोमवार को मनेगा। यह बात सही साबित हुई। शाम में आसमान पर ईद का चांद नजर नहीं आया। रात तक शहादत (चांद की गवाही) का इंतजार हुआ। उसके बाद मरकजी दारुल इफ्ता दरगाह आला हजरत से 25 मई को ईद मनाने का एलान कर दिया गया।

काजी-ए-हिदुस्तान एवं रुयत-ए-हिलाल कमेटी के अध्यक्ष मुफ्ती मुहम्मद असजद रजा खां कादरी के हवाले से मुफ्ती अब्दुर्रहीम नश्तर फारूकी ने बताया कि रमजान के चांद की कहीं से कोई शहादत नहीं मिली। तब जबकि आसमान साफ था। जमात रजा-ए-मुस्तफा के प्रवक्ता समरान रजा खां ने बताया कि रविवार को रमजान का 30वां रोजा रखा जाएगा। सोमवार को ईदुल फित्र का त्योहार मनाया जाएगा। उधर, खानकाह नियाजिया में प्रबंधक शब्बू मियां नियाजी इत्यादि ने भी चांद देखने का प्रयास किया। खानदान के अन्य लोग भी साथ रहे। ---------------

एसएसपी ने घूमकर लिया ईद पर बंदोबस्त का जायजा

चांद न दिखाई देने के चलते ईद अब 25 मई को मनाई जाएगी। इससे पहले पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था और शासन के दिशा निर्देशों को पालन कराने की तैयारियां कर ली हैं। एडीजी ने एक दिन पहले सभी जिलों को निर्देशित किया था कि भीड़ न जुटने पाए। इसे लेकर जिले में थाना वार ईदगाह और नमाज पढ़े जाने के स्थान की निगरानी कराई जा रही है। मुस्लिम समुदाय के लोगों से भी घरों पर ही नमाज पढ़ने और ईद का त्योहार मनाने की अपील की जा रही है। पीस कमेटी की बैठक में एसएसपी और डीएम के सामने समाज के लोगों ने नमाज घर पर ही पढ़े जाने का भरोसा दिया था। त्योहार पर सुरक्षा व्यवस्था और शांति कायम रखने के उद्देश्य से एसएसपी शैलेश पांडेय ने शहर में बाजार की स्थिति देखी। एसएसपी ने बताया कि ईद पर कहीं भी भीड़ नहीं होने दी जाएगी। सभी जन अपने घरों पर ही नमाज अदा करें। इससे पहले एडीजी अविनाश चंद्र ने जोन के सभी जिलों के एसएसपी और एसपी को सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए थे। खास कर बरेली, बिजनौर, मुरादाबाद, संभल पुलिस को विशेष निगरानी के लिए कहा गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस