बरेली, जेएनएन। कोविड की नई कार्ययोजना बनाने के लिए बरेली आए वरिष्ठ नोडल नवनीत सहगल सोमवार सुबह लखनऊ लौटते हुए अधिकारियों को समीक्षा आख्या सौंप गए। डीएम नितीश कुमार, नोडल कुनाल सिलकु और सीडीओ चंद्र मोहन गर्ग ने करीब दो घंटा कैंप कार्यालय में इसी कार्ययोजना को लेकर मंथन किया। नवनीत सहगल ने बरेली के शहर और ग्रामीण क्षेत्रों को अति संवेदनशील, संवेदनशील और अल्प संवदेनशील में बांटने के लिए कहा। कुल आबादी में अति संवेदनशील क्षेत्रों में 50 फीसद सैंपल, संवेदनशील में 30 फीसद सैंपल और अल्प संवेदनशील में 20 फीसद सैंपल किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि मानचित्र में अति संवेदनशील क्षेत्रों को दर्शाए। जिले में प्रतिदिन तीन हजार से साढ़े तीन हजार टेस्ट होने चाहिए। यह टेस्ट 70 फीसद एंटीजन से, तबकि 30 फीसद आरटीपीसीआर से होने चाहिए।

आरएनए मशीन की पुष्टि कर गए नोडल अधिकारी

नई कार्ययोजना के अनुसार आइटीपीसीआर टेस्ट 800 से बढ़ाकर 1200 तक लाने हैं। जिला अस्पताल के आइटीपीसीआर टेस्ट 60 से बढ़ाकर सौ से ज्यादा करने हैं। नोडल अधिकारी जाने से पहले नई आरएनए एक्सट्रेक्ट मशीन की स्वीकृति की पुष्टि भी कर गए हैं। जिससे जिला अस्पताल की लैब में टेस्ट की संख्या बढ़ाई जा सकेगी। उन्होंने लिखा कि एंटीजन टेस्ट दो हजार से बढ़ाकर तीन हजार प्रतिदिन होंगे। निगेटिव आने वालों की आरटीपीसीआर जरूरी है।

15 फीसद तक करनी होगी संक्रमितों के संपर्काें की ट्रेसिंग

15 फीसद तक करें मौजूदा समय में कोविड संक्रमितों के संपर्क में आने वालों की ट्रेसिंग का औसत 10 फीसद है। इसको नई कार्ययोजना में बढ़ाकर 15 फीसद तक लाने के निर्देश हुए हैं। माइक्रो कंटेमेंट जोन बनाकर डोर टू डोर सर्वे कराने पर ज्यादा जोर दिया गया है। कोविड अस्पताल प्रबंधकों के साथ उन्होंने वार्ता की। इसके बाद कोविड अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाने के लिए कहा है।

दिल्ली, लखनऊ के डॉक्टर से जुड़े वर्चुअल आइसीयू के लिए कोविड अस्पतालों के डॉक्टरों को लिंक उपलब्ध कराया गया है। इससे दिल्ली, लखनऊ के वरिष्ठ चिकित्सक बरेली के चिकित्सकों से जुड़ सकेंगे। साथ ही, आइसीयू वार्ड में सीसी कैमरा लगाकर निगरानी की जाए। जागरुकता के लिए पब्लिक इंफार्मेशन सिस्टम बरेली के चौराहों और प्रमुख 34 जगह पर पब्लिक इंफार्मेशन सिस्टम लगाए गए हैं। पुलिस और प्रशासन के 215 वाहनों पर सिस्टम लगा हुआ है। इनको और अच्छे से कोविड की जागरुकता के लिए संचालित करने पर जोर दिया गया है।

कोविड की कार्ययोजना तैयार की है। समीक्षा के बाद कई खामियों को बता दिया गया है। सुधार की प्रक्रिया जारी है। बरेली में अच्छा काम हो रहा है। - नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव एमएसएमई, वरिष्ठ नोडल बरेली

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस