बरेली : तीन तलाक और हलाला के खिलाफ मुखर होकर सुर्खियों में आई निदा खान को राजनीतिक पारी शुरू करने के लिए फिलहाल इंतजार करना पड़ेगा। रविवार को मेरठ में हुई भाजपा कार्यसमिति की बैठक से पार्टी में शामिल होने के लिए कोई बुलावा नहीं आया। अब उनकी मध्यस्थ उत्तराखंड की मंत्री रेखा आर्या जल्द ही पैगाम लेकर भाजपा के शीर्ष नेताओं से मिलने दिल्ली जाने की तैयारी में है।

बीते दिनों उत्तराखंड की मंत्री रेखा आर्या और निदा खान की देहरादून में मुलाकात हुई थी। यहां निदा की भाजपा के वरिष्ठ नेताओं से फोन पर बात कराई गई। इसमें निदा ने भाजपा में शामिल होने पर तुरंत हामी भर दी। हाईकमान ने भी निदा पर मंथन शुरू कर दिया। इस बीच यह खबर आम हुई तो स्थानीय भाजपा नेता सक्रिय हो गए। निदा के भाजपा में शामिल होने के नफा-नुकसान के संदेश हाईकमान तक पहुंचाए जाने लगे। एक कद्दावर पार्टी नेता खासतौर से रोड़ा बने।

भाजपा सूत्रों के मुताबिक, स्थानीय और प्रदेश के शीर्ष नेताओं की रजामंदी ली जा रही है। जल्द ही निदा पर तस्वीर साफ हो जाएगी। वहीं, रविवार को कार्यसमिति की बैठक में भाग लेकर आए एक विधायक ने बताया कि निदा को लेकर किसी तरह की चर्चा सामने नहीं आई। न ही भाजपा अध्यक्ष ने किसी विधायक को बुलाकर इस संबंध में बात की।

श्रेय लेने की होड़ में बिगड़ा खेल

भाजपा के शीर्ष नेताओं ने निदा से लंबी बातचीत कर उनका मन टटोला था लेकिन, इस मुद्दे पर श्रेय लेने को लेकर मची होड़ ने खेल बिगाड़ दिया।

वर्जन

निदा भाजपा में शामिल होंगी। इस सिलसिले में मंत्रीजी की बात पार्टी के शीर्ष नेताओं से चल रही है। इंतजार कीजिए, जल्द तारीख और जगह तय हो जाएगी।

- पप्पू गिरधारी, उत्तराखंड की मंत्री रेखा आर्या के पति

Posted By: Jagran