बरेली, जेएनएन : सौतेली मां से परेशान होकर एक युवती नागालैंड से भागकर गाजियाबाद पहुंच गई। वहां से बरेली का एक ट्रक चालक उसे नौकरी का झांसा देकर साथ ले आया। यहां किराये के मकान में रखकर ट्रक चालक युवती का सौदा करने लगा। भनक लगने पर युवती ने मकान मालिक को बताया तो उन्होंने आरोपित की जमकर पिटाई की। मकान मालिक ने सीबीगंज थाने में इसकी भी शिकायत की थी। 

नागालैंड के दिमापुर रंगापहाड़ निवासी एक व्यक्ति के दो बेटे और एक बेटी है। पत्नी की मौत के बाद उसने दूसरी शादी कर ली। सौतेली मां बच्चों का उत्पीडऩ करने लगी। इससे परेशान होकर युवती घर से भाग निकली। ट्रेन से वह गाजियाबाद पहुंची। वहां सड़क किनारे बैठी थी। इस बीच सीबीगंज थाना क्षेत्र स्थित एक गैस एजेंसी का ट्रक चालक उसे मिला। वह युवती को नौकरी का झांसा देकर यहां ले आया। आरोप है कि उसने युवती को एक रात होटल में रखा और जबरन शराब पिलाने का प्रयास किया।

अगले दिन ट्रक चालक युवती को सीबीगंज निवासी शंकरलाल के मकान ले गया। युवती को दोस्त की बेटी बताकर कमरा किराये पर दिला दिया। फिर ट्रक चालक युवती का चुपचाप सौदा करने लगा। 17 अगस्त को युवती को पता चला कि ट्रक चालक उसे बेचना चाहता है। तब इसकी जानकारी मकान मालिक को दी। शाम को ट्रक चालक घर आया तो मकान मालिक ने उसकी पिटाई कर पुलिस के हवाले करने की चेतावनी दी। जिस पर ट्रक चालक माफी मांगने और मौके पाकर भाग गया। 

मकान मालिक शंकरलाल गंगवार ने बताया कि युवती के पिता और भाइयों को फोन पर उसके यहां होने की सूचना दे दी है। साथ ही सीबीगंज पुलिस को भी पूरा मामला बता दिया। युवती को दो-तीन दिन से घर में रख रहे थे। गुरुवार को वह उसे नबावगंज स्थित मेरी चिल्ड्रन स्कूल लेकर पहुंचे। स्कूल के प्रबंध निदेशक आनंद सैमसन युवती को सहारा देने को तैयार हो गए। आनंद सैमसन ने बताया कि युवती को स्कूल में नौकरी के साथ हॉस्टल में रहने व भोजन की व्यवस्था मुहैया कराई जाएगी। जब भी युवती की इच्छा हो अपने परिजनों के साथ वापस घर लौट सकती है। 

मामला मेरे आने से पहले का है। अगर शिकायत मिलती है तो जांच कर कार्रवाई की जाएगी। - बच्चू सिंह, इंस्पेक्टर सीबीगंज 

Posted By: Abhishek Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप