बरेली, जेएनएन। Murder in Bareilly : नवादा जोगियान के मुहल्ला पीली मिट्टी में जुआ को रोकने में नाकाम बारादरी पुलिस की लापरवाही में रेलवे के गैंगमैन की हत्या हो गई। विवाद जुआ में हार-जीत के दौरान चंद रुपयों का था। आरोपितों ने तमंचे से गैंगमैन के माथे पर गोली मार दी। इससे उसका सिर क्षत-विक्षत हो गया। रविवार शाम करीब पांच बजे वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपित मौके से फरार हो गए। नवादा शेखान निवासी धर्मेंद्र कुमार रेलवे में ,गैंगमैन थे।

पुलिस के मुताबिक रविवार शाम को वह बाइक से नवादा जोगियान के मुहल्ला पीलीमिट्टी के मैदान में जुआ खेलने गए थे। हार-जीत के दौरान रुपयों के विवाद में पहले कहासुनी हुई। फिर आरोपित ने तमंचा निकालकर गोली चला दी। गोली धर्मेंद्र के माथे पर लगी। इससे उसके सिर के टुकड़े मौके पर फैल गए। घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई। इसके बाद आरोपित और मैदान में मौजूद लोग भाग निकले। देर शाम तक पुलिस को हत्यारोपितों का सुराग नहीं मिला था। मैदान के आस-पास रहने वालों से पूछताछ की जा रही है।

मौके से मिले ताश के पत्ते, लेकिन आला कत्ल नहीं मिला सूचना पर धर्मेद्र के ,पिता रामस्वरूप और स्वजन मौके पर पहुंचे। शव को मोर्चरी भिजवा दिया गया। मौके से ताश की पत्ते बरामद हुए, लेकिन आला कत्ल नहीं मिला। चूंकि वहां कई लोगों की मौजूदगी में वारदात हुई, इसलिए बारादरी पुलिस का दावा है कि जल्द हत्यारोपितों को पकड़ लिया जाएगा। लोगों के कहना है कि पीलीमिट्टी मुहल्ले में अक्सर जुआ होता था। सवाल ये उठता है कि पुलिस कार्रवाई क्यों नहीं हुई, अन्यथा एक युवक की जान बच सकती थी।

वारदात के बाद पुलिस को प्राथमिक सुराग मिले हैं। प्रथम दृष्टया रुपयों के विवाद का मामला लग रहा है, लेकिन पुरानी रंजिश भी हो सकती है। हम जांच कर रहे हैं। - नीरज मलिक, प्रभारी निरीक्षक 

Edited By: Ravi Mishra