जागरण संवाददाता, बरेली: शहरी क्षेत्र के साथ ही अब गांव में छिपी खेल प्रतिभा निखर सके और खिलाड़ियों को अवसर मिल सके, इसके लिए सरकार हर तत्पर है। जिले के सभी 15 ब्लाक में मिनी स्टेडियम बनने हैं। कुछ में निर्माण भी शुरू हो चुका है, जो दिसंबर तक पूरा हो जाएगा।

हाल में हुए टोक्यो ओलिंपिक में भारतीय खिलाड़ियों ने स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक दिलाए। ओंिलंपिक में भारत का प्रतिनिधत्व करने वाले ज्यादातर खिलाड़ी ग्रामीण क्षेत्रों से ही थे। ऐसे में सरकार ने गांव-गांव मिनी स्टेडियम बनाने की कवायद तेजी की है, इससे आर्थिक स्थिति और संसाधनों के अभाव में खिलाड़ियों की प्रतिभा दब कर न रह जाए। खिलाड़ी नियमित अभ्यास कर गांव की गलियों के साथ ही देश का नाम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिभा दिखा सकें। यहां चल रहे निमार्ण:

ब्लाक गांव

भोजीपुरा परधौली

क्यारा क्यारा

नवाबगंज धक्कटा

भदपुरा अल्लिया

शेरगढ़ ब्योधा

बहेड़ी मल्लीपुर शवराह

भुता बुधौली

भावी खिलाड़ियों को मिलेगा अवसर

बीएसए विनय कुमार ने बताया कि गांव में स्टेडियम न होने से खिलाड़ी अभ्यास नहीं कर पाते थे और न ही उन्हें किसी प्रतियोगिता में शामिल होने का मौका मिलता था। लेकिन, अब स्टेडियम बनने के बाद वहां प्रशिक्षक तैनात किए जाएंगे। समय-समय पर टूर्नामेंट व लीग आयोजित होंगी। तीन विभागों से लिया जा रहा बजट

मिनी स्टेडियम तैयार करने का कार्य तेजी के साथ चल रहा है। इसके निर्माण के लिए पंचायत विभाग, शिक्षा विभाग व एक अन्य विभाग से बजट लिया जा रहा है। सभी स्टेडियम 25-25 लाख की धनराशि से तैयार होने हैं।

Edited By: Jagran