बरेली, जेएनएन। पाक्सो जैसे गंभीर आरोप में मीरगंज पुलिस ने आरोपित को क्लीन चिट दे दी। छह साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म केस में आरोपित के खिलाफ मीरगंज थाने में मुकदमा दर्ज हुआ था। पुलिस ने आरोपित को निर्दोष बताकर पाक्सो कोर्ट में फाइनल रिपोर्ट भेज दी। अदालत ने जब वादी को इसकी सूचना भेजी तो इस बात का राजफाश हुआ। वादी ने कोर्ट में कहा कि विवेचक ने उसके बयान तक नहीं लिए। पुलिस आरोपित की गिरफ्तारी का कोरा आश्वासन देती रही।

चुपके से केस में कब एफआर लगा दी और वादी को पता ही नहीं चला। अदालत से जानकारी मिली तो पहले वादी को यकीन ही नहीं हुआ कि छह साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म करने के आरोपित को पुलिस क्लीन चिट दे देगी। स्पेशल जज पाक्सो कोर्ट रामदयाल ने पुलिस की कारगुजारी को खारिज करते हुए आरोपित को तलब कर लिया है। वारदात दिसंबर 2019 की है। वादी की छह साल की बेटी घर के बाहर खेल रही थी। आरोपित झांसा देकर बच्ची को अपने साथ खेतों की तरफ ले गया और बच्ची को निर्वस्त्र करके छेड़छाड़ की। गांव वालों के पहुंचने पर आरोपित मौके से फरार हो गया। स्पेशल कोर्ट सात दिसंबर को मामले की सुनवाई करेगी।

Edited By: Ravi Mishra