पीलीभीत, जागरण संवाददाता। पाकिस्तानी तंजीम दावत ए इस्लामी की गतिविधियों को देश की सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा बताते हुए इस पर प्रतिबंध लगाए जाने के बयान दे चुके आस्तान ए हशमतिया के सज्जादानशीन व शहर काजी मौलाना जरताब रजा खां खुद के और परिवार के लिए खतरा महसूस कर रहे हैं। उनका कहना है कि इस बाबत प्रशासन को बताया जा चुका है। शासन अगर सुरक्षा की जिम्मेदारी ले तो इस तंजीम के क्रिया कलापों के बारे में अभी और भी खुलासा कर सकते हैं।

गत दिवस मौलाना का एक वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुआ था, जिसमें उन्होंने दावत ए इस्लामी को पाकिस्तानी तंजीम बताते हुए उसे देश की सुरक्षा के लिए खतरनाक बताया था। साथ ही कौम के लोगों से अपने बच्चों को इस तंजीम से दूर रखने की नसीहत भी दी थी। सोमवार को जागरण से वार्ता करते हुए मौलाना जरताब रजा खान हशमती ने कहा कि इस तंजीम पर सख्ती से प्रतिबंध लगना चाहिए। दावत ए इस्लामी ने शहर के एक मुहल्ले सहित जिले में कई स्थानों पर गैर कानूनी ढंग से मदरसे कायम कर लिए हैं। मौलाना ने कहा कि उनका खानदान हमेशा से वतन परस्त रहा है। कश्मीर मामले को लेकर वह पहले भी मोदी सरकार के फैसले का स्वागत कर चुके हैं। वह भाजपा को पसंद करते हैं। इसलिए कट्टरपंथियों के निशाने पर रहते हैं। दावत ए इस्लामी के बारे में खुलासा करने के कारण खुद उन्हें व उनके परिवार को खतरा है लेकिन अगर शासन सुरक्षा की जिम्मेदारी ले तो वह इस तंजीम के बाबत और भी खुलासे कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि इससे पहले जब उन्होंने सिमी के बहिष्कार का एलान किया था, तब भी कट्टर पंथियों की ओर से उन्हें धमकियां मिली थीं। ऐसे में दावत ए इस्लामी तंजीम की ओर से भी उन्हें खतरा बना हुआ है लेकिन वह अपने वतन के लिए जान देने से भी पीछे हटने वाले नहीं हैं।

खुफिया एजेंसियों ने शुरू कर दी जांच: जिले में दावत ए इस्लामी संगठन की गतिविधियां संचालित होने की सूचना पर खुफिया एजेंसियां सक्रिय हो गई हैं। गत दिवस इंटरनेट मीडिया के माध्यम से बरखेड़ा विधायक स्वामी प्रवक्तानंद और आस्तान ए हशमतिया के दावत ए इस्लामी के बारे में बयान सामने आने के बाद खुफिया एजेंसियों को सक्रिय किया गया है।

दावत-ए-इस्‍लामी संगठन की गतिविधियों की जांच शुरू: शहर काजी मौलाना जरताब रजा खां तथा बरखेड़ा क्षेत्र के भाजवा विधायक स्वामी प्रवक्तानंद द्वारा दावत-ए-इस्लामी संगठन की सक्रियता के बारे में दिए गए बयान के बाद पुलिस महकमा भी हरकत मेंं आ गया है। पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी ने बताया कि अपर पुलिस अधीक्षक डा. पवित्र मोहन त्रिपाठी के नेतृत्व में टीम गठित की गई है। यह टीम आतंकी संगठनों से संंबंधित गतिविधियों की छानबीन कर रही है। टीम में स्थानीय अभिसूचना इकाई (एलआइयू) के साथ साथ संबंधित थाना पुलिस भी शामिल रहेगी। पुलिस अधीक्षक के मुताबिक अब तक की छानबीन में जिले में किसी तरह की कोई गतिविधि प्रकाश में नहीं आई है।

Edited By: Vivek Bajpai