जेएनएन, पीलीभीत: जनसभा के दौरान एक महिला पुलिसकर्मी की वजह से खासा बखेड़ा हो गया। बेटी के हत्यारोपितों को गिरफ्तार कराने की मांग को लेकर चुटकना गांव के रामसरन अपनी पत्नी को साथ लेकर जनसभा स्थल पर पहुंचे थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का संबोधन चल रहा था, उसी वक्त भीड़ के बीच बैठे रामसरन व उनकी पत्नी अपनी जगह से खड़े होकर मंच की ओर जाने की कोशिश करने लगे। महिला पुलिसकर्मी ने उन्हें रोका और बैठने को कहा। मना किया तो धक्का दे दिया।

CM ने बुलाया मंच के पास, लेकर पहुंचे डीएम

इस पर हंगामा होने लगा। भीड़ में बैठे अन्य लोग दंपती के पक्ष में शोर शराबा करने लगे। मीडिया कर्मियों का ध्यान मंच से हटकर दंपती की ओर चला गया। इस पर मुख्यमंत्री ने अफसरों से कहा कि किसी की समस्या है तो उसे यहां लेकर आओ। बेवजह तमाशा क्यों बना रखा है। इस पर भीड़ ने खूब तालियां बजायीं। मुख्यमंत्री के तेवर देख डीएम वैभव श्रीवास्तव तुरंत मंच से दौड़कर भीड़ के बीच पहुंचे।

Case दर्ज कर 24 घंटे में गिरफ्तारी के दिए आदेश 

दंपती को लेकर मंच के नीचे खड़े हो गए। बाद में उन्हें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलवाया गया। रामसरन ने बताया कि उनकी बेटी अंजलि का एक माह पहले अपहरण कर हत्या कर दी गई थी। उसकी लाश नहर में मिली थी। हत्या की नामजद तहरीर दी थी मगर पुलिस ने धारा 306 में मुकदमा दर्ज किया। आरोपितों की गिरफतारी नहीं हुई। योगी ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर 24 घंटे में गिरफ्तारी के निर्देश दिए हैं।

 

Posted By: Abhishek Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप