बरेली, जागरण संवाददाता। Opium smugglers caught by Lucknow STF: तस्करों पर शिकंजे के बीच झारखंड का तस्कर गिरोह जिले में सक्रिय हो गया है। नेपाल के रास्ते झारखंड के तस्कर उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, दिल्ली व हरियाणा तक मादक पदार्थों की तस्करी कर रहे हैं। झारखंड के बाप-बेटों ने शाही को ठिकाना बना रखा था। नेपाल से खेप लाकर दोनों माल सप्लाई की फिराक में थे। तभी दोनों को लखनऊ एसटीएफ ने धर दबोचा। दोनों के पास से आठ किलो अफीम बरामद हुई है। तस्कर मुकेश चौरसिया उर्फ मंटू व उसका बेटा प्रियांशु चौरसिया दाेनों झारखंड के पंडरा स्थित सहदेव नगर के निवासी हैं। दोनों के पास से तीन मोबाइल फोन, आधार कार्ड व 2720 रुपये बरामद किये गए हैं।

एसटीएफ लखनऊ के उपनिरीक्षक विनय सिंह के मुताबिक, जानकारी मिली कि अंतरराष्ट्रीय गिरोह का एक सरगना मुकेश चौरसिया उर्फ मंटू अपने एक साथी के साथ नेपाल राष्ट्र से अफीम की खेप लेकर बरेली के रास्ते कहीं जाने वाला है। तय योजना के अनुसार, शाही तिराहे पर स्थित यात्री स्टैंड के सामने दोनों को रोका गया। तलाशी में दोनों के पास से अफीम की खेप बरामद हुई।

पूछताछ में दोनों ने अपना नाम मुकेश चौरासिया व प्रियांश चौरसिया बताया। पूछताछ में मुकेश चौरसिया उर्फ मंटू ने बताया कि वह नेपाल राष्ट्र से अफीम खरीद कर उसकी सप्लाई उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, दिल्ली व हरियाणा राज्यों में करता है। वह यह कार्य काफी दिनों से कर रहा है।

नेपाल में अफीम और ब्राऊन शुगर काफी कम दामों में मिल जाती है, जिसकी मांग भारत के राज्यों में ज्यादा होती है। मांग ज्यादा होने के कारण ऊचे दाम मिल जाते हैं, जिससे काफी मुनाफा होता है। दोनों शाही पुलिस के हाथ सौंप दिये गए। शाही पुलिस ने दोनों के विरुद्ध एनडीपीएस एक्ट की धारा में प्राथमिकी लिख ली है।

पुरा कुनबा है तस्कर, पत्नी व बेटे भी बटाते हैं हाथ

पूछताछ में सामने आया कि आरोपित का पूरा कुनबा तस्कर है। अवैध गतिविधियों में पत्नी व दोनों बेटे दिव्यांशु व प्रियांशु भी शामिल हैं, जो कैरियर्स का कार्य करते हैं। तस्कर बेटे प्रियांशु के साथ अफीम उत्तराखंड में एक खरीदार को देने के लिए जा रहा था। तभी दोनों धर लिये गए।

Edited By: Vivek Bajpai

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट