बरेली, जेएनएन । लॉकडाउन में बाजार बंदी होने का फायदा कुछ व्यापारी उठाने लगे हैं। गुरुवार को प्रशासन और व्यापार मंडल की हेल्पलाइन पर ऐसी कई शिकायतें आईं। कहा गया कि जो आटा 25 रुपये किलो मिलता था, अब उसके 35 रुपये वसूले जा रहे हैं। बाजार कम देर खुलता है, इसका फायदा उठाकर कुछ दुकानदार अधिक दाम ले रहे। ऐसा तब हो रहा, जबकि शासन ओवर रेटिंग पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दे चुके हैं। दोपहर को बाजार के हाल जानने निकले डीएम, नितीश कुमार व एसएसपी शैलेश पांडेय ने ओवररेटिंग को लेकर व्यापारियों से बातचीत की।

जनता कफ्यरू के बाद अचानक लॉकडाउन होने के बाद प्रशासन ने कंट्रोल रूम स्थापित करके ओवररेटिंग की निगरानी बढ़ा दी गई थी। गुरुवार को थोक और फुटकर बाजारों से शिकायतें पहुंची कि आटा, दाल और चावल के रेट बहुत ज्यादा हैं। सामान्य दिनों में 25 रुपये किलो के भाव से बिकने वाला आटा गुरुवार को फुटकर बाजार में 35 रुपये किलो के भाव से बिका है। अरहर की दाल भी 140 रुपये किलो तक पहुंच गई। व्यापार मंडल की हेल्पलाइन पर भी कई उपभोक्ताओं ने यह शिकायत की। जिसके बाद उप्र व्यापार मंडल के महामंत्री राजेंद्र गुप्ता, जिला महामंत्री राजेश जसोरिया आदि उन स्थानों पर पहुंचे। सभी दुकानदारों ने अपील की कि ओवर रेटिंग न करें। मुश्किल हालात में सेवाभाव दिखाएं।

बड़े बाजारों में भी ओवररेटिंग

कुछ शिकायतें बड़े बाजारों की भी पहुंची है। प्रशासन स्तर से जारी होने वाली होम डिलीवरी के लिए जिन बाजारों की लिस्ट जारी की गई है। वहां से भी ओवररेटिंग की शिकायतें कंट्रोल रूम तक आई हैं। ऐसे में निगरानी बढ़ा दी गई है। 

Posted By: Ravi Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस