बरेली, जेएनएन । लाॅकडाउन के चलते सरकार की ओर से किया गए एलान से बरेली के करीब 11 लाख लोगों को लाभ मिलेगा। जो जनता के लिए राहत भरी खबर है। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण के उज्ज्वला योजना के कनेक्शन धारकों को तीन महीने तक निश्शुल्क सिलिंडर देने के ऐलान किया हैं। वहीं गरीबों को अतिरिक्त पांच किलो अनाज दिए जाने का भी एलान किया जा चुका है। जिसका फायदा सीधे तौर पर जिले के आठ लाख कार्डधारकों को मिलेगा।

जिले के करीब 2.75 लाख कनेक्शन धारक हैं । इनमें से करीब एक लाख 40 हजार कनेक्शन इंडेन के हैं। जबकि 80 हजार कनेक्शन भारत गैस लिमिटेड और लगभग 50 हजार कनेक्शन हिंदुस्तान गैस के हैं। सरकार ने स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाओं को बिना गारंटी मिलने वाले लोन की तादाद अब 10 से बढ़ाकर 20 लाख कर दी है। इससे 4336 स्वयं सहायता समूहों को लाभ मिलेगा। इनमें ग्रामीण क्षेत्र के 3056 स्वयं सहायता समूह और इससे जुड़ी 33,536 महिलाएं हैं।

वहीं शहरी क्षेत्र के 1280 समूहों को फायदा होगा। सरकार ने विधवा महिलाओं अगले तीन महीने में दो किश्तों में एक हजार रुपये देने की घोषणा की है। इससे जिले की 65,551 महिलाओं को इसका लाभ मिलेगा। एलपीजी गैस एसोसिएशन अध्यक्ष रंजना सोलंकी ने बताया कि सरकार ने निर्धन वर्ग के लिए अच्छा कदम उठाया है। कोशिश यह होनी चाहिए कि इसका फायदा लाभार्थियों को मिले।

जिले में है आठ लाख कार्ड धारक 

गरीबों को अतिरिक्त पांच किलो अनाज दिए जाने का एलान भी कर दिया गया हैं।जिले के आठ लाख कार्डधारकों को फायदा मिलने की संभावना हैं। इसमें 99 हजार अंत्योदय और बाकी पात्र गृहस्थी कार्डधारक हैं। अभी तक पात्र गृहस्थी कार्डधारकों को पांच किलो प्रति यूनिट के हिसाब से अनाज दे रही थी। जबकि अंत्योदय कार्ड धारकों को 35 किलो राशन दिया जाता है।

35 की जगह मिलेगा 40 किलो अनाज 

अब निर्धन वर्ग को अगले तीन महीने तक पांच किलो अतिरिक्त अनाज मिलेगा। एक किलो दाल भी निशुल्क दी जाएगी। जिनको अभी तक एक यूनिट पर पांच किलो अनाज मिलता था। उन्हें अब दस किलो मिलेगा। वहीं अंत्योदयकार्ड धारकों को 35 की जगह 40 किलो अनाज मिलेगा।

भोजन के लिए फोन करें

अगर किसी को लॉकडाउन की वजह से भोजन की समस्या आ रही हो तो वह कंट्रोल रुम पर इसकी सूचना दे सकते हैं। उनके लिए प्रशासन भोजन की व्यवस्था कराएगा। इसके साथ जो लोग जरूरतमंदों को भोजन या फल वगैरह बांटना चाहते हैं, प्रशासन से संपर्क करे।

ऑनलाइन भुगतान के माध्यम

ई-निवारण एप

यूपीपीसीएल की वेबसाइट

भुगतान संबंधित समस्या पर हेल्पलाइन - 1912

ऑनलाइन भुगतान पर नहीं लगेगा बैंकिंग चार्ज 

लॉकडाउन में विद्युत उपभोक्ता ऑनलाइन एप या डिजिटल एकाउंट से भुगतान कर सकते हैं। इस पर उनको कोई बैंकिंग चार्ज नहीं चुकाना होगा। विद्युत विभाग के चीफ इंजीनियर तारिक मतीन के मुताबिक लॉकडाउन के दौरान उपभोक्ताओं के विद्युत उपभोग में बढ़ोतरी हुई है। यूपीपीसीएल ने उपभोक्ताओं के हितों का ध्यान रखते हुए फैसला लिया है कि ऑनलाइन भुगतान के लिए बैंकिंग शुल्क का भुगतान अब उपभोक्ता नहीं करेगा।

यूपीपीसीएल खुद बैंकिंग शुल्क चुकाएगा। इस निर्णय से बरेली के भी तीन लाख उपभोक्ताओं को लाभ होगा। पहले दस फीसद उपभोक्ता ही विद्युत बिल का भुगतान ऑनलाइन करते थे। अब लॉकडाउन होने के बाद अधिकांश उपभोक्ता ऑनलाइन विकल्प चुन रहे हैं।

 

Posted By: Ravi Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस