जेएनएन, बरेली : ढकिया के ग्राम प्रधान को रविवार दोपहर में रोक कर दो दारोगा व अन्य पुलिस कर्मियों ने चेकिंग की। जब कुछ नहीं मिला तो अपने पास से मादक पदार्थ देकर वीडियो बना लिया। इसके बाद जेल भेजने की बात कहकर धमकाया। घबराए प्रधान ने गिड़गिड़ाते हुए रहम की भीख मांगी तो दोनों दारोगा सौदेबाजी करने लगे। सात लाख में सौदा तय हुआ।

दारोगाओं ने रकम लेकर ही प्रधान को जाने दिया। घर पहुंच कर प्रधान ने परिजनों को पूरा घटनाक्रम बताया तो सभी एकराय होकर सोमवार को ग्रामीणों के साथ थाने पहुंच गए। करीब छह घंटे थाने में हंगामा हुआ। कार्रवाई के आश्वासन के बाद ग्रामीण शांत हुए। मामले की जांच सीओ आंवला को दी गई है।

ग्राम ढकिया के ग्राम प्रधान छत्रपाल ने बताया कि रविवार को दिन में तीन बजे वे ननिहाल थाना बिशारतगंज के ग्राम मिलक बहादुरगंज से कार से लौट रहे थे। बिशारतगंज के ग्राम भीकमपुर के पास गैनी चौकी के सिपाही धनंजय सिंह व होमगार्ड ने उन्हें रोका कार में मादक पदार्थ होने की बात कहते हुए कार चेकिंग की बात कही। पुलिस कर्मी उन्हें कार समेत रामगंगा खादर की ओर ले गए। तभी दारोगा नितिन शर्मा व मुकेश कुमार, सिपाही देवेंद्र व होमगार्ड वहां पहुंच गए।

उन्होंने कार खुलवाई और एक पॉलीथीन में रखा कोई पदार्थ उन्हें पकड़ाकर वीडियो बना ली। उनसे कहा कि तुम्हारे पास से यह मादक पदार्थ बरामद हुआ है, तुम्हें जेल भेजा जाएगा। घबराए प्रधान ने पुलिस वालों की खुशामद की। आरोप है कि मिठाई देने को कहा तो उनसे दस लाख रुपये मांगे गए। बाद में सात लाख रुपये में बात बनी।

प्रधान ने घर पर फोन करके परिवार के लोगों से रकम इकट्ठी कराकर दारोगा नितिन शर्मा के हाथ में दी। बाद में दोनों दारोगाओं ने उसे हिदायत दी कि वह इस मामले में किसी से भी बात न करे। सोमवार को परिजनों व ग्रामीणों से सलाह लेने के बाद उन्होंने थाने में प्रदर्शन किया। एसपी देहात संसार सिंह ने पुलिस टीम को जांच के लिए मौके पर भेजा। वहीं ग्राम प्रधान द्वारा दिए गए बयानों का वीडियो भी बनाया गया। प्रधान ने स्वयं व दारोगा से ही कुछ वार्ता के आडियो भी पुलिस को सौंपे हैं।

ग्राम प्रधान ने जो आरोप लगाए हैं। उस मामले की जांच मिली है। अभी जांच चल रही है। तथ्य जुटाए जा रहे हैं। तथ्य सामने आने पर ही कुछ स्पष्ट कहा जा सकता है। - Ram Prakash CO Aaolan

ग्राम प्रधान छत्रपाल ने थाना अलीगंज के दो दारोगाओं व पुलिसकर्मियों पर मादक पदार्थो की तस्करी में बंद करने के नाम पर सात लाख रुपये वसूलने का आरोप लगाया है। इसकी जांच की जा रही है, जो भी दोषी होगा, उस पर कार्यवाही की जाएगी। - Sansar Singh SP Dehat 

Posted By: Abhishek Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस