जेएनएन, बरेली : अयोध्या फैसले को लेकर चल रही पुलिस की तैयारियों के बीच आतंकी संगठनों की सक्रियता की सूचना ने फिक्र बढ़ाई है। हाई अलर्ट के बीच खुफिया रिपोर्ट आई है कि आइएसआइ, आइएसआइएस समेत तमाम आतंकी संगठन नापाक हरकत कर सकते हैं। उनके निशाने पर धार्मिक नेता, प्रमुख उद्यमी-व्यापारी व अधिकारी हो सकते हैं।

जानकारी होने के बाद अफसरों ने ऐसे कुछ लोगों की सूची बनाकर उन्हें सुरक्षा मुहैया कराई है। स्थानीय खुफिया टीमें भी इनपुट जुटाने लगी हैं। हर संदिग्ध की जानकारी आला अधिकारियों तक पहुंचाई जा रही है। प्रमुख प्रतिष्ठानों की सुरक्षा भी पुख्ता कर दी गई है। पुलिस लाइन का एक गेट शाम होते ही बंद कर दिया जा रहा है।

नेपाल से घुसे आतंकी तलाशने के लिए खंगाले गए कच्चे रास्ते: चार दिन पहले नेपाल के रास्ते उप्र में घुसे आतंकियों की सूचना मिलने के बाद अतिरिक्त सतर्कता बरतने के आदेश है। आदेश के बाद डीआइजी राजेश पांडेय ने पीलीभीत नेपाल बार्डर को पूरी तरह खंगाला है। जिसमें बार्डर के प्रमुख रास्तों के साथ ही साथ 50 से अधिक कच्चे रास्ते खंगाले गए है। सैकड़ों गांवों में भी पुलिस ने पूछताछ के साथ गहन छानबीन की है। हालांकि अभी तक पुलिस के हाथ कुछ खास नहीं लगा है।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021