जागरण संवाददाता, बरेली : चाइनीज मांझा विक्रेताओं के खिलाफ प्रशासन की कार्रवाई से घबराए पतंग व्यवसायी अब खुद भी मांझा का विरोध करने लगे हैं। शहर के बाकरगंज में कई पतंग व्यवसायियों ने चाइनीज मांझा की पुलिस-प्रशासन की मौजूदगी में होली जलाई। साथ ही सिटी मजिस्ट्रेट अशोक कुमार शुक्ला को शपथ पत्र देकर चाइनीज मांझा नहीं बेचने और बेचने वालों का विरोध करने का आह्वान किया। सिटी मजिस्ट्रेट ने व्यवसायियों की पहल का स्वागत किया। इधर, चाइनीज मांझा विक्रेताओं के खिलाफ चले एक सप्ताह अभियान में सात विक्रेताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा चुका है। इससे पतंग व्यवसायियों को भी कार्रवाई का भय सताने लगा है।

शुक्रवार को सिटी मजिस्ट्रेट चाइनीज मांझा विक्रेताओं के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत बाकरगंज पहुंचे। यहां उन्होंने कई दुकानों की चैकिंग की। इससे कई व्यवसायियों में खलबली मच गई। वह खुद प्रशासन के सामने मांझा के विरोध का राग अलापने लग गए। दूल्हा बेग, अनीस बेग, सरताज अहमद और अनस अहमद ने तो बकायदा शपथ पत्र कहा कि चाइनीज मांझा के कारण शहर में आए दिन लोगों के घायल होने की घटनाएं सामने आ रहीं हैं। इसके चलते पतंग व्यवसाय की किरकिरी भी हो रही है। साथ ही इससे जनपद के मांझा उद्योग पर भी गहरा असर पड़ रहा है। सिटी मजिस्ट्रेट ने भी उनकी पहल का स्वागत किया। वहां मौजूद लोगों से कहा कि इस चाइनीज मांझा से लगातार शहरवासी घायल हो रहे हैं। सभी को अपनी नैतिक जिम्मेदारी समझनी चाहिए। व्यवसायी ही नहीं बल्कि अभिभावकों को भी अपने बच्चों के चाइनीज मांझा के चरखों को जला देना चाहिए। साथ ही उन्हें इसे भविष्य में खरीदने से भी रोकना चाहिए।

Posted By: Jagran