बरेली, जागरण संवाददाता। Justice Ravi Kumar Divakar Security News : यूपी पुलिस (UP Police) पर तीखी टिप्पणी करने वाले बरेली के जस्टिस रवि कुमार दिवाकर (Justice Ravi Kumar Divakar) एक बार फिर चर्चा में है।

इस बार वह खुद की सुरक्षा को लेकर सुर्खियों में है। ज्ञानवापी प्रकरण (Gyanwapi Case) में सर्वे का आदेश देने वाले लघुवाद न्यायाधीश रवि कुमार दिवाकर ने स्वयं की सुरक्षा को लेकर नाराजगी जताई है। उन्होंने बरेली आइजी रमित शर्मा को पत्र लिखकर कहा है कि उन्हें वाराणसी की तरह सुरक्षा व्यवस्था उपलब्ध कराई जाए।

आइजी को लिखे गए पत्र में लघुवाद न्यायाधीश रवि कुमार दिवाकर ने लिखा कि वाराणसी में मुझे सुरक्षा प्रदान की गई थी।बरेली में मुझे जो सुरक्षा प्राप्त है। वह अपर्याप्त है। मेरे द्वारा इस संबंध में प्रतिसार निरीक्षक पुलिस लाइन निरोत्तम सिंह को फोन कर अवगत भी कराया गया।

मुझे वाराणसी (Varanasi) की तरह शासन के आदेश के अनुसार सुरक्षा उपलब्ध कराई जाए। इस पर उन्होंने उचित जवाब नहीं दिया। उन्होंने यह भी कहा शासन से उनको इस तरह का कोई आदेश प्राप्त नहीं हुआ है, जो सुरक्षा उनके द्वारा दी गई वह उन्हीं के स्तर से प्रदान की गई है।

आइजी रेंज रमित शर्मा को पत्र लिखते हुए उन्होंने सुरक्षा की मांग की है। उन्होंने एक दूसरा पत्र आइजी रेंज को लिखा है जिसमें जानकारी दी गई है कि उनकी निजी सुरक्षा में जो गनर तैनात था। वह 17 व 18 सितंबर को ड्यूटी पर नहीं आया। प्रतिसार निरीक्षक से इस बारे में जानकारी की।

उन्होंने इस संबंध में कोई उचित कार्रवाई नहीं की। न्यायाधीश ने प्रतिसार निरीक्षक के विरुद्ध नियमानुसार कार्रवाई की मांग की है। 

Edited By: Ravi Mishra