वसीम अख्तर, बरेली : विद्युत विभाग बदलाव के दौर से गुजर रहा है। मंत्री श्रीकांत शर्मा कह चुके हैैं कि हमारे साथ वही आगे जाएंगे, जो अच्छा काम करेंगे। इसी सोच के साथ प्रबंध निदेशक (मध्यांचल) विद्युत वितरण निगम सूर्यपाल गंगवार भी काम कर रहे हैैं। उनका कहना है कि सुधार का हिस्सा नहीं बनने वाले खुद ही किनारे हो जाएंगे। आगे सकारात्मक सोच से काम करने वाले ही जाएंगे। उन्होंने शहर से जुड़ी एक बड़ी समस्या का समाधान भी करा दिया है।

सवाल : शहर के कुछ इलाकों में हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से लगातार मौत हो रही हैैं। विभाग इस बड़ी समस्या का समाधान नहीं कर पा रहा है?

जवाब : इस संबंध में कमिश्नर रणवीर प्रसाद से बात की है। वह शहर की एचटी (हाईटेंशन) और एलटी (लोटेंशन) लाइन को स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत भूमिगत कराने को तैयार हो गए हैैं। इसके लिए डीपीआर तैयार करने के लिए मुख्य अभियंता विद्युत को 25 फरवरी तक का समय दिया है।

सवाल : 24 घंटे विद्युतापूर्ति को लेकर बात हो रही है लेकिन वर्तमान की स्थिति को देखकर ऐसा संभव नहीं होता दिख रहा?

जवाब : इस दिशा में संजीदगी से काम हो रहा है। 24 घंटे बिजली में सबसे बड़ी बाधा सिस्टम को अपग्रेड करने की थी। उस पर काम शुरू हो गया है। विभाग से इतर जर्जर लाइन बदलवाने के लिए पैसे की व्यवस्था को डीएम से भी बात हुई है। विद्युत विभाग की आरसी वसूली से मिलने वाला 15 प्रतिशत पैसा जर्जर लाइनों को बदलने पर खर्च हो सकता है।

सवाल : बिजली चोरी पर कुछ हद तक लगाम लगी है लेकिन विभाग के अफसरों और मातहतों के रवैये को लेकर शिकायतें बनी हुई हैैं। उन्हें कैसे सुधारेंगे?

जवाब : अब तक जहां भी मीटिंग की है, वहां सकारात्मक बदलाव के लिए सभी तैयार हैैं, जो नहीं बदलेंगे वह हमारी कार्रवाई की जद में आएंगे।

कौन हैैं सूर्यपाल गंगवार : मूल रूप से बरेली की तहसील नवाबगंज के रहने वाले सीनियर आइएएस सूर्यपाल गंगवार एमडी मध्यांचल बनने से पहले प्रमुख सचिव नागरिक उड्डयन विभाग थे। सिविल एंक्लेव के निर्माण में उनका अहम योगदान रहा है।  

Posted By: Ravi Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस