बरेली, जेएनएन।  गांव मांडा के जागनलाल यादव की हत्या उसकी करोड़ाें की संपत्ति को हथियाने के लिए की गई थी। हत्या की साजिश किसी गैर ने नहीं बल्कि करीबियों ने ही रची थी। इसके लिए बकायदा पहले शराब पार्टी की गई। फिर आरोपितों ने जमकर शराब पी। फिर जागनलाल से लोटा मांगा। लोटा देने से मना करने पर आराेपित उन्हें खेत में ले गए और मफलर से गला कसकर हत्या कर दी। जांच में यह सामने आया कि इस कहानी की मुख्य किरदार एक महिला है। पुलिस के मुताबिक, हत्या में शामिल लोगों को पकड़ लिया गया है। पकड़े गए लोगों ने संपत्ति के लिए हत्या की बात कबूली है।

जागनलान के नाम 14 बीघा जमीन है। जागनलाल की दस शादियां हुई हैं। हालांकि सिर्फ दो पत्नियां ही उसके साथ रहती थी और दोनों ही बंगाली है।  जानकारों की मानें तो उसकी यह जमीन नैनीताल रोड किनारे है। वर्तमान में वहां जमीन की कीमत 22 लाख रुपये बीघे है। लिहाजा, यदि 14 बीघे जमीन की बात करें तो कीमत करोड़ों में हैं। जबकि इस जमीन जागनलाल उस युवक को देना चाहता था जो उसकी सेवा करता था। इसकी भनक दूसरे अन्य करीबियों को लग गई जो ऐसा नहीं चाहते थे और इसकी भनक अन्य करीबियों को लग गई। इसलिए उसकी हत्या की साजिश रची गई। मुकदमें का वादी भतीजे के साथ भाभी व उसके घर में रहने वाले युवक एवं अन्य रिश्तेदार को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है। बता दें कि बुधवार को गांव मांडा निवासी जागनलाल की हत्या कर दी गई थी। वह मंगलवार शाम को खाना खाकर टहलनेे निकले थे। बुधवार को उनका शव खेत में मिला था। गले में मफलर का फंदा कसा था और उन्हें पेड़ से बांधा गया था। जागनलान की दस शादियां हो चुकी थी। लिहाजा, पुलिस अवैध संबंधों व संपत्ति विवाद दो बिंदुओं पर काम कर रही थी जिसमें संपत्ति हथियाने के लिए जागनलाल की हत्या की बात सामने आई है।

क्या कहना है पुलिस का 

एसपी देहात राजकुमार अग्रवाल का कहना है कि अभी तक जांच में संपत्ति के लिए जागनलाल की हत्या की बात सामने आ रही है। शुक्रवार तक घटना का राजफाश कर दिया जाएगा।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप