पीलीभीत, जेएनएन : तराई के जिले के लाल से एक बार फिर अंतरराष्ट्रीय हॉकी प्रतियोगिता में अपने शानदार खेल का प्रदर्शन करने की उम्मीद है। वह शुक्रवार को ओडिशा के भुवनेश्वर में शुरू होने वाले हॉकी लीग में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दम भरेगा। परिजनों सहित पूरे देश को उससे अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद है। जिसके लिए परिजन दुआ भी कर रहे है।

गांव मझारा फार्म निवासी सिमरनजीत सिंह पर जिला ही नहीं बल्कि पूरा रूहेलखंड गौरवान्वित है। भारतीय हॉकी टीम के इस सितारे पर एक बार फिर भारतीय हॉकी चयनकर्ताओं ने भरोसा जताते हुए टीम में चुना है। शुक्रवार से भुवनेश्वर में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शाम 7 बजे से मैच होगा। मझारा के इकबाल सिंह का पुत्र सिमरनजीत ने हॉकी में प्रतिभा के दम पर अलग पहचान बनाई है। जब हॉकी खेलने ग्राउंड में आता है तो क्षेत्र के लोग टीवी पर अपनी नजरें जमा देते हैं।

सिमरनजीत की ये रहीं उपलब्धियां

सिमरनजीत ने भारतीय हॉकी टीम से चैंपियन ट्रॉफी 2018, एशियन गेम्स 2018, विश्व कप 2018 में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए टीम को जिताया था। फेडरेशन इंटरनेशनल हॉकी सीरीज में उसे गोल्ड मेडल मिल चुका है।

एशियन गेम्स 2018 में इंडोनेशिया के खिलाफ तीन गोल दागे थे। विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ सिमरनजीत ने लगातार बेहतर प्रदर्शन करते हुए गोल किए थे जो पाकिस्तानी टीम पर विजय हासिल करने में सहायक बने।

जागरण से फोन पर हुई बातचीत में सिमरनजीत ने बताया चयनकर्ताओं ने जो भरोसा उस पर जताया है, उसे बखूबी निभाएंगे। भारतीय टीम बेहतर प्रदर्शन करेगी।

जीत के लिए परिजन कर रहे प्रार्थना

दादी गुरप्रीत कौर, पिता इकबाल सिंह, मां मनजीत कौर, बहन प्रभजोत कौर, छोटा भाई अर्शजीत सिंह ने सिमरनजीत की कामयाबी के लिए भगवान से प्रार्थना करनी शुरू कर दी है। परिजनों का कहना है कि उन्हें अपने बेटे की काबिलियत और ईश्वर पर पूरा भरोसा है। उन्हें पूरी उम्मीद है कि इस हॉकी लीग में भारतीय टीम की विजय होगी।

 

Posted By: Ravi Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस