जेएनएन, बरेली : अयोध्या फैसले को लेकर चीफ जस्टिस (सीजेआइ) के खिलाफ फेसबुक पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले को पकड़ना पुलिस के लिए चुनौती था। लेकिन फेसबुक पर प्रोफाइल फोटो पर दिख रहे बिजली के खंभे ने उसकी राह आसान कर दी।

पोस्ट का Screenshot बना जरिया

साइबर सेल और क्राइम ब्रांच के पोस्ट का स्क्रीन शॉट था। फेसबुक पर प्रोफाइल खंगाला तो उसका एक फोटो बिजली के खंभे के सामने का था। उस खंभे पर लिखे नंबर के आधार पर पुलिस ने बिजली विभाग के अधिकारियों से बात की। तब पता चला कि वह खंभा पशुपति विहार कॉलोनी का है। टीम वहां पहुंची, कुछ लोगों को फोटो दिखाए तब पता मिला और उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

अतीक व मुख्तार का है कट्टर Supporter

साइबर सेल के अनुसार, आरोपित अब्दुल कय्यूम खुद को असदद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए- इत्तेहादुल मुस्लिमीन का समर्थक बताता है। वह माफिया अतीक अहमद और मुख्तार अंसारी का कट्टर समर्थक है। अब्दुल बीए का छात्र है और उसके पिता अब्दुल वहीद अंसारी कलेक्ट्रेट में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी है।

Saturday को किया था CJI पर Comment

अयोध्या फैसले को लेकर फेसबुक पर चीफ जस्टिस के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले में पुलिस ने एक आरोपित को गिरफ्तार किया है। सोमवार को उसे जेल भेजा जाएगा। शनिवार को बारादरी के पशुपति विहार निवासी अब्दुल कय्यूम अंसारी के फेसबुक अकाउंट से आपत्तिजनक टिप्पणी की गई। रविवार को फैसला आने के बाद कई पोस्ट कर डालीं। जिसमें आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग किया गया। चीफ जस्टिस पर भी आपत्तिजनक टिप्पणी की। रविवार को ये पोस्ट वायरल होकर डीआइजी राजेश पांडेय तक पहुंच गईं। साइबर सेल ने उसका फेसबुक अकाउंट देखा तो उसमें एक पुरानी पोस्ट दिखी। जिसमें प्रधानमंत्री व अन्य कई नेताओं पर भी आपत्तिजनक टिप्पणी लिखी पोस्ट थीं।

Fb Profile में खुद को लिख रखा था कर्मचारी

साइबर सेल व क्राइम ब्रांच के पास उसकी पोस्ट का स्क्रीन शॉट था मगर पता नहीं मालूम हो सका था। प्रोफाइल में खुद को केंद्रीय विद्यालय इज्जतनगर का कर्मचारी लिखा था इसलिए पुलिस वहां भी गई मगर जानकारी फर्जी थी। टीम ने उसके फेसबुक प्रोफाइल को खंगाला। इसके बाद पशुपति विहार कॉलोनी से गिरफ्तार कर लिया गया। उसके खिलाफ धारा 19, 153 ए, 295 ए, 506 और आइटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। 

आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोपित युवक को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसे सोमवार को जेल भेजा जाएगा। रमेश कुमार भारतीय, एसपी क्राइम, बरेली

Posted By: Abhishek Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप