बरेली, जागरण संवाददाता। Intelligence Agencies Search PFI Connection in Bareilly Division : पापुलर फ्रंट आफ इंडिया (पीएफआइ) कनेक्शन (PFI Connection) को लेकर मंडल में अलर्ट है। अंदेशा जताया गया है कि देशभर व प्रदेश में अलग-अलग जनपदों में बड़ी कार्रवाई के चलते उससे जुड़े सदस्य ठिकाना बदल रहे हैं।

वह मंडल के जनपदों को ठिकाना बना सकते हैं। ऐसे में संदिग्धों के साथ पहले आतंकी गतिविधियों में पहले सामने आए नामों व हर एक कनेक्शन पर खुफिया एजेंसी (Intelligence Agencies) काम कर रही है।

दरसअल, बीते 22 सितंबर से एनआइए, ईडी व राज्यों की पुलिस पीएफआइ से जुड़े लोगों पर ताबड़तोड़ कार्रवाई कर रही है। जगह-जगह छापेमारी चल रही है। इसी बीच केंद्र सरकार ने पीएफआइ को बैन कर दिया है। साथ ही पीएफआइ से जुड़े आठ अन्य सहयोगी संगठनों पर पांच साल के लिए प्रतिबंध लगा दिया।

लगातार कार्रवाई भी जारी है। ऐसे में रेंज (Bareilly Range) के चारों बरेली, बदायूं, पीलीभीत व शाहजहांपुर में खुफिया टीमें अलर्ट हैं। यह जांच की जा रही है कि कही अलग-अलग कार्रवाई के चलते उससे जुड़े सदस्यों ने ठिकाना बदल लिया हो। बरेली व उसके आस-पास के जनपदों को शरण स्थली बनाई हो।

चूंकि, बरेली स्लीपर सेल के लिए जाना जाता है। पहले भी कई संदिग्ध व आतंकी गतिविधि में शामिल आरोपितों के बरेली कनेक्शन निकले थे। ऐसे में टीम किसी भी अंदेशे से इन्कार नहीं कर रही। पूर्व में आतंकी गतिविधियों में सामने आए नामों, बरेली को ठिकाना बनाने वाले संदिग्धों व उनसे जुड़े लोगों की वर्तमान स्थिति के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। शासन को पल-पल की अपडेट भी दी जा रही है।

मंडल में अब तक सामने नहीं आया कोई नाम

बरेली मंडल में पीएफआइ से किसी के जुड़े होने का अब तक नाम नहीं सामने आया है। पूर्व में भी कई कार्रवाई हुई लेकिन, मंडल में पीएफआइ कनेक्शन नहीं निकला। लिहाजा, टीम राहत में है। लेकिन, अबकी बार संगठन के बैन होने व लगातार छापामार कार्रवाई के बाद खुफिया टीमें कोई जोखिम नहीं लेना चाहती।

गहनता से छानबीन की जा रही है। भीड़ वाले स्थानों पर भी मूवमेंट बढ़ा दिया गया है। ऐसी जगहों खुफिया टीम के सदस्य सादे कपड़ों में घूम रहे हैं। संदिग्धों के बारे में जानकारी ली जा रही है। 

Edited By: Ravi Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट