जेएनएन, बरेली : सूबे में सरकार चाहे हाथी या फिर साइकिल वालों की रही, सीनियर आइएएस नवनीत सहगल जिले में आते रहे हैैं। अब भाजपा के सत्ता में रहते एक बार फिर उनका कार्यक्रम लगा है। वह लगातार आते रहने की वजह से विकास की कमियों और खूबियों से अच्छी तरह वाकिफ हैैं। बुधवार को उनके आने से पहले जहां-जहां जाने का कार्यक्रम तय हुआ है, वहां-वहां खलबली मची हुई है।

दहशत में जिले के अफसर : प्रमुख सचिव सूक्ष्म, लघु एवं उद्यम निर्यात प्रोत्साहन विभाग नवनीत सहगल बुधवार को सुबह करीब साढ़े नौ बजे सर्किट हाउस पहुंचेंगे। उनके अब से पूर्व के दौरे की बात करें तो वह 2007 में मुख्यमंत्री रहीं मायावती के साथ निरीक्षण के लिए आए थे। तब जिला अस्पताल में कमियां पाकर सीएमओ, नगर आयुक्त समेत कुछ डॉक्टरों पर भी कार्रवाई की गई थी।

जिसके बाद हुआ था डीएम का तबादला: एम देवराज डीएम थे, उनका तबादला कर दिया गया था। सपा के सत्ता में रहते भी उनका निरीक्षण के लिए आना जारी रहा। जब भी वह जिले में आए हैैं, गहनता से निरीक्षण किया है। गड़बड़ी पकड़ लेते हैैं। यही वजह है कि अफसर इस बार उनके आने से पहले ज्यादा सचेत हैैं। सभी संबंधित विभागों मेें हाई अलर्ट दिख रहा है। बैठक के लिए आंकड़े और निरीक्षण को अस्पताल इत्यादि में कमियां दुरुस्त की जा रही हैैं।

18 बिंदुओं पर करेंगे समीक्षा, जानेंगे स्थ‍िति: नोडल अधिकारी 18 बिंदुओं की समीक्षा करेंगे। इसमें कानून व्यवस्था, गो आश्रय स्थल, आयुष्मान भारत योजना, गन्ना मूल्य भुगतान, सार्वजनिक शौचालयों का निर्माण, प्रधानमंत्री आवास योजना, राजस्व वादों का निस्तारण और बिजली आपूर्ति जैसे विषय शामिल हैैं। इसके पूर्व स्थलीय निरीक्षण के लिए नगर का भ्रमण करके वस्तु स्थिति से भी अवगत होंगे। 

प्रमुख सचिव कर सकते है थानों का निरीक्षण: नोडल अधिकारी थानों का भी निरीक्षण कर सकते हैं। जानकारी मिलते ही अधिकारियों ने सभी थाना प्रभारी निरीक्षकों को साफ सफाई व अन्य तैयारियों को पूरा करने के निर्देश दिए। मंगलवार को शहर व देहात क्षेत्र के सभी थानों में फाइलों के रख रखाव, मेस व कार्यालय आदि की साफ सफाई कराई गई। एसपी सिटी रविंद्र सिंह ने बताया कि प्रमुख सचिव व जिले के नोडल अधिकारी थाने का भी निरीक्षण कर सकते हैं।  

Posted By: Abhishek Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस