शाहजहांपुर, जेएनएन। IIA will Search Business Opportunities in Uganda : इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन ने युगांडा में व्यापार की संभावनाओं को आगे बढ़ाना शुरू कर दिया है। शुक्रवार को एसोसिएशन का प्रतिनिधिमंडल वहां पहुंचेगा। करीब सात दिन उद्यमी वहां पर रहकर राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री व अन्य नेताओं से मुलाकात करेंगे। भारतीय उत्पादों व उद्योगों के लिए उपलब्ध अवसरों पर बात करेंगे।

एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक अग्रवाल ने बताया कि भारत युगांडा एमएसएमई की पहल के तहत 21 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल गुरुवार को युगांडा के लिए रवाना होगा। उन्होंने बताया कि दस दिसंबर तक वहां रहकर विभिन्न चरणों में वार्ता होगी। प्रतिनिधिमंडल में आइआइए के वरिष्ठ उपाध्यक्ष नीरज सिंघल व अंतरराष्ट्रीय मामलों की समिति की चेयरपर्सन रेखा शर्मा भी शामिल हैं। दोनों देशों के बीच यह पहल द्विपक्षीय व्यापार प्रौद्योगिक, प्रौद्योगिकी विकास, गुणवत्ता विकास, कौशल विकास और उद्यमिता के क्षेत्रों में संबंधों का विस्तार करने के लिए सफल साबित होगा।

प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों की सरकार और निजी व्यापार भागीदारों के साथ बैठक होंगी। 19 शहरों का दौरा भी होगा।आइआइए के चैप्टर चेयरमैन रोहित गोयल ने बताया कि इस प्रतिनिधिमंडल के लिए युगांडा उच्चायोग व इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन एक साल से निरंतर कार्य कर रहे हैं। पिछले दिनों युगांडा की उच्चायुक्त जिले में भी आईं थीं। उन्होंने बताया कि अफ्रीकी देशों में भारत को अपने उत्पादों के लिए अनुकूल बाजार मिल सकता है। युगांडा के खनिज एवं लकड़ी जैसे उत्पादों में निर्यात को प्रात्सोहित करना इस प्रतिनिधिमंडल का लक्ष्य होगा।

आइआइए प्रतिनिधिमंडल की युगांडा के राष्ट्रपति योवेरी मुसेवेनी, प्रधानमंत्री रोबिनाह नब्बांजा, भारत में उच्चायुक्त ग्रेस अकेलो, विदेश मंत्री अबुबखर जेजे ओडोंगो, पर्यटन मंत्री कर्नल टाम आर बुटीमे, कृषि मंत्री फ्रैंक तुमवेब्रेज आदि के साथ भी बैठक होंगी। चार दिसंबर को दिसंबर को उच्च स्तरीय भारत- युगांड़ा निवेश व्यापार आयोजन में वहां के राष्ट्रपति योवेरी मुसेवेनी मुख्य अतिथि होंगे। पांच दिसंबर से प्रतिनिधिमंडल को सदस्य पांच समूहों में विभाजित होकर अपनी रुचि के अनुसार अलग-अलग सेक्टर में दौरा करेंगे

Edited By: Ravi Mishra