बरेली, [वसीम अख्तर] : भाजपा विधायक राजेश मिश्र उर्फ पप्पू भरतौल की बेटी साक्षी ने अजितेश से प्रेम विवाह किया। बात इतनी ही थी। लेकिन, अचानक यह मामला हाई प्रोफाइल हो गया। बरेली से निकली बात दिल्ली तक जा पहुंची। एक के बाद दूसरे, तीसरे चैनल पर बहस शुरू हो गई। तब विधायक पिता को यह कहना पड़ा कि इसके पीछे उनकी अपनी ही पार्टी के दो विधायकों की साजिश है।

अब अगर पूरे मामले पर नजर डालें तो पप्पू भरतौल का इल्जाम बेसबब नहीं दिख रहा। उनका साफ कहना है कि उन्होंने साक्षी और अजितेश के प्रेम विवाह का कहीं कोई विरोध नहीं किया। न फोन से धमकाया और न ही खुद कहीं गए। कहीं किसी तरह की कॉल डिटेल नहीं है। विधायक के दोस्त राजीव राणा का नाम जरूर सामने आया। साक्षी और अजितेश ने इन पर इल्जाम लगाया कि राजीव राणा उनका पीछा कर रहे हैं। उन्होंने ऐसा विधायक के इशारे पर किया है।

राजीव राणा की सफाई आई कि उन्होंने ऐसा नहीं किया। सीसीटीवी इस बात का सुबूत हैं। उनके कार्यालय से फुटेज निकलवाई जा सकती है। धमकी मिली या नहीं अभी इस पर सफाई चल ही रही थी कि विधायक की बेटी का प्रेम विवाह चैनलों पर बहस का सबब बन गया। पप्पू भरतौल के पार्टी विधायकों पर लगाए इल्जाम को पार्टी स्तर पर अभी तक गंभीरता से नहीं लिया गया है। भाजपा जिलाध्यक्ष रवींद्र सिंह राठौर ने कहा है कि विधायक अगर पार्टी फोरम पर आकर कुछ कहते हैं, तभी जांच संभव है। विधायक फिलहाल इस मुद्दे पर अब कुछ कहना नहीं चाहते। हां, जिस तरह से घटनाक्रम तेजी से रंग बदल रहा है, उससे यह साफ लग रहा है कि कोई न कोई तो है, जो इस मामले को हवा दे रहा है।

अजितेश के भाई की गाड़ी पर हो चुकी है फायरिंग

जनवरी में वीरसावरकर नगर में अजितेश के भाई का किसी से विवाद हो गया था। तब आरोप लगाया गया था कि अजितेश के भाई की गाड़ी पर हमलावरों ने ताबड़तोड़ फायरिंग की थी। गाड़ी में कुछ खोखे भी मिले थे। इस मामले में दूसरे पक्ष के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज हुआ था। अजितेश का कुछ लोगों से झगड़ा भी हुआ था। इज्जतनगर इंस्पेक्टर केके वर्मा का कहना है कि अजितेश के खिलाफ कोई मुकदमा दर्ज नहीं है।

विधायक खामोश, परिचितों ने भी साधी चुप्पी

बिथरी चैनपुर विधायक राजेश मिश्र ने पुत्री साक्षी के आरोपों पर चुप्पी साध ली है। शनिवार को भी उनकी बेटी ने न्यूज चैनलों पर लाइव कार्यक्रम में भाई पर मारपीट का आरोप लगाया, लेकिन बिथरी विधायक ने कहा कि वह पहले ही अपना पक्ष रख चुके हैं, इसलिए अब उन्हें कुछ नहीं कहना है। दूसरी तरफ विधायक के दोस्त राजीव राणा ने भी मानहानि का मुकदमा नहीं करने की बात कही।

बिथरी विधायक की बेटी ने शनिवार को भी एक न्यूज चैनल पर साक्षात्कार के दौरान भाई पर कई गंभीर आरोप लगाए। टीवी देख रहे विधायक के परिचितों ने फोन कर या फिर कार्यालय पहुंचकर इसकी जानकारी दी, लेकिन बिथरी विधायक ने कुछ भी बोलने से साफ इन्कार कर दिया। विधायक की खामोशी पर उनके परिचितों ने भी चुप्पी साध ली है। शनिवार को पूरे दिन भरतौल स्थित उनके कार्यालय पर परिचितों और समर्थकों की आवाजाही बनी रही। विधायक ने सभी से मुलाकात की, लेकिन इस प्रकरण पर बात करने से मना कर दिया। विधायक ने कहा कि वह बालिग है। अपने निर्णय ले सकती है।

यह है पूरा मामला
बिथरी विधायक की बेटी साक्षी तीन जुलाई को घर छोड़कर चली गई थी। चार जुलाई को साक्षी ने अनुसूचित जाति के अजितेश से शादी कर ली। 10 जुलाई को साक्षी का पहला वीडियो वायरल हुआ। जिसमें उन्होंने अजितेश से शादी करने, दोनों की जान को खतरा होने की बात कही। 11 जुलाई को साक्षी ने दूसरा वीडियो वायरल किया। इसमें उन्होंने पापा विधायक राजेश मिश्र, भाई विक्की भरतौल और विधायक के करीबी राजीव राणा से उनकी जान को खतरा बताया। वीडियो वायरल होने के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया था। इसके बाद कई न्यूज चैनलों पर भी उन्होंने पिता से जान का खतरा होने की बात कही है।

डेढ़ लाख रुपया है अजितेश पर बकाया

साक्षी के पति अजितेश पर बकाया रुपये के सवाल पर राजीव राणा ने कहा कि अजितेश पर उनका डेढ़ लाख रुपया बकाया है। अजितेश ने वह रुपया उनके एकाउंट में डालने की बात कही है। अपने परिचित से मैसेज भी कराया है कि वह बेईमान नहीं है। पैसा जल्द ही चुका देंगे, इसलिए इस मामले में भी अधिक कुछ नहीं बोलना है।

नहीं करेंगे साक्षी पर मानहानि का मुकदमा: राजीव राणा

साक्षी ने अपने दोनों वायरल वीडियो में विधायक के दोस्त राजीव राणा पर पीछा करने और उनसे जान का खतरा होने के आरोप लगाए थे। राजीव राणा ने बताया कि यह आरोप लगने पर उन्होंने गुस्से में साक्षी-अजितेश पर मानहानि के मुकदमे की बात कही थी, लेकिन वह कोई मुकदमा नहीं करेंगे। विधायक बोल रहे हैं कि साक्षी को उनसे या उनके परिवार से कोई खतरा नहीं है। ऐसे में यह उनका पारिवारिक मामला है। फिर हम क्यों इस मामले में किसी के लिए बोलेंगे।

दोनों लोगों व उनके परिवार को पूरी सुरक्षा दी जाएगी। हालांकि, अभी तक किसी ने पुलिस से कोई संपर्क नहीं किया है। दोनों व उनके परिवार को जब भी जहां भी सुरक्षा चाहिए वह बताएं उन्हें पूरी सुरक्षा दी जाएगी। - राजेश कुमार पांडेय, डीआइजी।

पूरे परिवार की सुरक्षा दी जाएगी। हालांकि दोनों की तरफ से किसी पुलिस अधिकारी से संपर्क नहीं किया गया है। पुलिस खुद पता लगाने में जुटी है। दोनों की लोकेशन नोएडा मिली है। पुलिस टीम भेजी गई है। हर हाल में दोनों को सुरक्षा प्रदान की जाएगी। - अविनाश चंद्र, एडीजी, बरेली जोन 

 

Posted By: Abhishek Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप