जागरण संवाददाता, बरेली: सीबीगंज के बाद पिछले दो दिनों से बाकरगंज में भी बाढ़ का पानी पहुंच रहा है। ऐसे में जलभराव के बाद संक्रामक रोग तेजी से फैलने का खतरा रहता है। इससे बचाव के लिए शनिवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी संबंधित स्वास्थ्य महकमे के अन्य अधिकारियों के साथ इलाकों में उतरे और संक्रामक रोगों से बचाव के लिए वहां छिड़काव आदि कराया।

करीब दो साल पहले जब कोविड ने दस्तक दी तो कई सेवाएं प्रभावित हुईं। इसी क्रम में जिले में डेंगू और मलेरिया की जांचे भी कम हुई। जिस कारण जिले में उस दौरान महज आठ केस ही डेंगू के मिले थे, लेकिन इस साल जिले में डेंगू तेजी से पांव पसार रहा है। जनवरी से अब तक जिले में 316 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हो चुकी है। वहीं देहात क्षेत्र की तुलना में शहरी क्षेत्र डेंगू से अधिक प्रभावित हैं। बरसात के माहौल में डेंगू और मलेरिया फैलाने वाले मच्छर बढ़ने की आशंका और बढ़ गई है। इसी क्रम में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.बलवीर सिंह ने स्वास्थ्य महकमे के अन्य अधिकारियों के साथ शहर के बाकरगंज और सीबीगंज के इलाकों में पहुंचे। यहां जलभराव के बाद मुहल्लों में डेंगू व मलेरिया के वाहक मच्छर न पनपें, इसलिए रासायनिक छिड़काव कराने के साथ ही अन्य निरोधात्मक कार्रवाई कराईं।

25 टीमें सीबीगंज क्षेत्र में करेंगी जांच

शहर के सीबीगंज की लेबर कालोनी में 20 से अधिक मरीजों में डेंगू की पुष्टि हो चुकी है। जिस कारण यहां लगातार निरोधात्मक कार्रवाई की जा रही है वहीं सीबीगंज निवासी दो डेंगू ग्रसित मरीजों की मौत भी हो चुकी है। जिस कारण सीएमओ ने डोर टू डोर सर्वे कर निरोधात्मक कार्रवाई के लिए 25 टीमें डोमेस्टिक ब्रीडिग चेकर्स की सीबीगंज में लगाई गई है। जो कि डोर-टू-डोर सर्वे कर निरोधात्मक कार्रवाई कर डेंगू के लार्वा को नष्ट करेंगी।

बाकरगंज में तैनात की गई टीम

बीते दिनों से शहर के बाकरगंज में बाढ़ के चलते हालात काफी बदतर हो गए हैं यहां जलस्तर बढ़ने से किला नदी का पानी मोहल्लों के घरों में भर गया है। लेकिन शनिवार से जलस्तर घट रहा है, ऐसे में अब यहां डेंगू, मलेरिया के साथ ही अन्य बीमारियां फैलने को खतरा अधिक है। लोगों का इन बीमारियों से बचाव हो सके इसके लिए सीएमओ ने यहां टीम को तैनात कर दिया है। टीम में एक डाक्टर, एक फार्मासिस्ट और पैरामेडिकल स्टाफ रहेगा। जो कि फीवर, मलेरिया, डेंगू के साथ ही अन्य बीमारियों के लक्षण होने पर फौरन मरीज को उचित इलाज और दवा मुहैया कराएगा।

वर्जन

सीबीगंज में बढ़ते डेंगू के मरीजों को देखते हुए यहां मुहल्लों का निरीक्षण किया इस दौरान जिन घरों में पूर्व में निरोधात्मक कार्रवाई हुई थी वहां दोबारा से डेंगू का लार्वा मिला है। इस पर घरों के सदस्यों को कड़ी चेतावनी दी है। वहीं 25 टीमें भी सर्वे कर निरोधात्मक कार्रवाई के लिए लगाई गई हैं।

डा. बलवीर सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी

Edited By: Jagran