जागरण संवाददाता, बरेली: ब्योधनखुर्द इलाके में पशु तस्करों के हौसले बुलंद हैं। बुधवार रात काले रंग की स्कार्पियो से चार गोवंशीय पशुओं को क्रूरता पूर्वक ठूंसकर ले जा रहे तस्करों ने पुलिस के बैरियर को तोड़ दिया। पुलिस कर्मियों ने पीछा किया तो पशु तस्करों ने फायरिग कर दी। किसी तरह पुलिस कर्मियों ने खुद को बचाया। बाद में तस्कर गाड़ी छोड़कर शाहबाद रामपुर के जंगल की ओर भाग गए। पुलिस ने मामले में रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

बुधवार रात सूचना पर पुलिस ने सिरौली-शाहबाद मार्ग पर बैरियर लगाकर चेकिग शुरू कर दी। तभी उधर से गुजरी काले रंग की स्कार्पियो ने बैरियर तोड़ दिया। उसमें सवार पशु तस्करों ने भागने का प्रयास किया। वहां मौजूद दारोगा सीताराम यादव, सिपाही सुबोध, अंकित सिंह व इकबाल ने गाड़ी को रोकने के लिए उनका पीछा किया। पुलिस को पीछे आते देख तस्करों ने फायरिग शुरू कर दी। पुलिसकर्मियों ने किसी तरह जान बचाई। लेकिन पुलिस टीम ने उनका पीछा करना नहीं छोड़ा। आखिर में तस्कर गाड़ी छोड़कर जंगल की ओर भाग गए। पुलिस ने गाड़ी को कब्जे में ले लिया। उसमें चार गोवंशीय पशु क्रूरता पूर्वक बंधे मिले। उन्हें बाहर निकाला।

आखिर हर बार गच्चा क्यों दे जाते हैं तस्कर

हर बार की तरह इस बार भी पुलिस को पशु तस्कर गच्चा दे गए। अक्सर ऐसी घटनाओं में पुलिस गाड़ी व पशुओं को बरामद कर लेती है, मगर तस्कर उसके हाथ नहीं आते हैं। इस दफा भी तस्कर पुलिस को चकमा देने में कामयाब रहे। पशु तस्करी में स्कार्पियो का अधिक इस्तेमाल हो रहा है। दरअसल, स्कार्पियो का साइज बड़ा होता है, जिसमें पशुओं को आसानी से रखा जा सकता है। कई तस्कर स्कार्पियो के साथ पकड़े जा चुके हैं।

वर्जन

मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

राजकुमार अग्रवाल, एसपी देहात

Edited By: Jagran