बदायूं, जेएनएन : घर में चोरी होने से सब परेशान थे। आखिर दो लाख रुपये कोई मामूली रकम नहीं है। इस पर चचेरे भाई ने युवक पर चोरी का आरोप लगा दिया। उसने परिजनों को कई बार समझाने की कोशिश की लेकिन  कोई नतीजा नहीं निकला। परिजन तांत्रिक को बुलाने की चर्चा करने लगे। 

दो दिन बाद युवक को तांत्रिक के पास ले जाया गया। तांत्रिक ने युवक द्वारा चोरी किये जाने का दावा कर दिया। उस पर रुपये वापस करने का दबाव बनाया जाने लगा। इससे वह परेशान हो उठा। अपने बेगुनाही साबित नहीं कर पाने से युवक मानसिक तनाव में आ गया। शनिवार रात उसने घर में आत्मदाह कर लिया। सूचना मिलने पर पुलिस पहुंच गई। शव को पोस्मार्टम के लिए भेज दिया गया। 

बदायूं के इस्लामनगर निवासी प्रमोद (27) पुत्र रामसिंह के घर से दो लाख रुपये चोरी हो गए थे। चचरे भाई कल्लू ने प्रमोद पर रुपये चोरी करने का आरोप लगाया था। इस मामले में प्रमोद ने परिजनों को काफी समझाने की कोशिश भी की थी। इस दौरान चोरी की पुष्टि के लिए उसे तांत्र‍िक के पास ले जाने की चर्चा होने लगी। परिजनों को यकीन था कि कर्मकांड करने के बाद तांत्रिक असली गुनाहगार को पहचान लेगा। प्रमोद को तांत्रिक के पास ले जाया गया। वहां तांत्र‍िक ने प्रमोद द्वारा ही चोरी करने का दावा कर दिया। परिजन प्रमोद पर रुपये वापस करने का दबाव बनाने लगे। इससे परेशान होकर प्रमोद ने शनिवार रात घर में खुद को आग लगा ली। कुछ ही देर में आग भड़क गई और प्रमोद जोर-जोर से चीखने लगा। शोर सुनकर परिजन मौके पर पहुंचे और किसी तरह आग बुझाई। पूरी तरह झुलस चुके प्रमोद की मौत हो चुकी थी। सूचना मिलने पर पुल‍िस मौके पर पहुंची। शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। हालांकि इस मामले में पुलिस को तहरीर नहीं दी गई है। 

Posted By: Abhishek Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस