बरेली, जेएनएन। शहर के एक और निजी कोविड अस्पताल की मरीज से वसूली की शिकायत सामने आई है। आरोप है कि अस्पतालों वालों ने मरीज को भर्ती करने के बदले अधिक चार्ज वसूल किए। मामले की शिकायत पर स्वास्थ्य विभाग ने अस्पताल को नोटिस जारी कर दिया है। पांच अन्य अस्पतालों को पहले नोटिस भेजे जा चुके हैं। एक अस्पताल की नोटिस भेजने के बाद भी शिकायत आई है। उस पर जल्द कार्रवाई की तैयारी है।

इंद्रा नगर निवासी सतीश चंद्र अग्रवाल ने अपने शिकायती पत्र में लिखा है कि उन्होंने अपनी पत्नी नीता अग्रवाल को चार मई को महेंद्र गायत्री अस्पताल में भर्ती कराया था। वहां 11 दिन लगातार इलाज के बावजूद हालत नहीं सुधरने पर उन्हें दूसरे अस्पताल में भर्ती किया गया, जहां उनकी मौत हो गई। इन 11 दिनों में अस्पताल ने रोजाना 25 हजार रुपये के हिसाब से भर्ती का चार्ज लगाया। यह धनराशि शासन द्वारा निर्धारित रकम से लगभग दोगुनी है। इस पर सतीश चंद्र ने डीएम से शिकायत कर रुपये वापस दिलाने की मांग की। शिकायत सीएमओ कार्यालय पहुंचने पर जांच कर रहे एसीएमओ डॉ. आरएन गिरि की ओर से अस्पताल को नोटिस जारी कर दिया गया है। अस्पताल संचालक डॉ. महेंद्र गंगवार का कहना है कि उन्हें शिकायत की जानकारी नहीं है।

पांच अस्पतालों को दिया जा चुका है नोटिस : सीएमओ डॉ. सुधीर कुमार गर्ग का कहना है कि अब तक पांच अस्पतालों की शिकायत मिल चुकी है। महेंद्र गायत्री, विनायक, दीपमाला, मिशन, साईं सुखदा अस्पताल को नोटिस भेजकर जवाब मांगे हैं। एक अस्पताल को नोटिस भेजने के बाद भी शिकायत मिली है। उस अस्पताल के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी की जा रही है।

Edited By: Samanvay Pandey