बरेली (जेएनएन) : सर्पदंश से छात्र की मौत के मामले में परिजनों ने हेड मास्टर पर लापरवाही का आरोप लगाया है। मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया है। कार्रवाई के लिए थाने में तहरीर दी है। वहीं नायब तहसीलदार ने गांव पहुंचकर जांच की। ग्राम अधकटा रब्बानी बेगम के मोहम्मद अहमद का बेटा सुहैल (8) गाव में स्थित प्राथमिक विद्यालय में कक्षा दो का छात्र था। विद्यालय में नानकचन्द्र प्रधानाध्यापक और मोहम्मद अनीस शिक्षामित्र हैं। शनिवार सुबह वह रोज की भाति स्कूल गया था। स्कूल के कमरे में पढ़ रहे बच्चों ने कमरे में साप को देखकर सूचना हेड मास्टर को दी। आरोप है कि उन्होंने बच्चों को साप से बचाने के बजाय उन्हें डांटकर कमरे में ही बैठ कर पढ़ने को कह दिया। इसी बीच साप ने सुहैल को काट लिया। उसकी मौत हो गई। प्रधानाध्यापक ने न तो उसका इलाज कराया और न ही परिजनों को उसकी मौत की सूचना दी। ग्रामीणों से बेटे की मौत की सूचना पर उसके पिता परिजनों के साथ वहा पहुंचे। हेड मास्टर से सूचना न देने के बारे में पूछा तो वह उनसे अभद्रता करने लगे। वह बेटे का शव लेकर घर आ गए। उन्होंने मामले में तहरीर दी है। छात्र की मौत से मा अफरोज, बहन हिना, सिफा, भाई सुहेब, गुलफाम का रो-रो कर बुरा हाल है। वहीं नायब तहसीलदार प्रभात कुमार ने मौके पर पहुंच कर जांच की। ..तो बच सकती थी मासूम की जान

गाव के प्राथमिक विद्यालय में साफ सफाई के लिए सफाई कर्मचारी सप्ताह में दो दिन ही आता है। बाकी दिनों में बच्चे ही विद्यालय में साफ सफाई करते हैं। शनिवार को भी बच्चों ने विद्यालय के कमरों की सफाई की थी। उन्हें वहा साप दिखाई दिया था लेकिन बच्चों को यह पता नहीं लगा सके कि साप विद्यालय के कमरे में ही है या बाहर निकल गया। अगर शनिवार को वहां सफाई कर्मी सफाई करने आता बच्चे की जान बच सकती थी। - मामला मेरे संज्ञान में आया है। इसकी जाच कराई जाएगी। जाच में जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

विवेक शर्मा, खण्ड शिक्षाधिकारी ब्लॉक भदपुरा।

शनिवार को छात्र विद्यालय आया ही नहीं था। उपस्थिति रजिस्टर में उसकी हाजिरी भी नहीं लगी हुई है। उसके साथ विद्यालय में कोई घटना नहीं हुई है। उसके परिजन झूठा आरोप लगा रहे हैं।

-नानकचन्द्र, प्रधानाध्यापक, प्राथमिक स्कूल अधकटा रब्बानी बेगम

By Jagran