जेएनएन, बरेली: कॉलेज के दिनों में हुआ प्रेम जब परवान चढ़ा तो बात निकाह तक जा पहुंची। लड़की के परिजनों को यह बात नागवार लगी तो उन्होंने प्यार पर पहरा लगा दिया। साफ शब्दों में कह दिया कि उन्हें यह रिश्ता मंजूर नहीं। परिणाम वही हुआ जो अक्सर कम उम्र के आशिक कर बैठते हैं। युवती ने चार दिन पहले जहर खाकर मौत को गले लगाने की कोशिश की लेकिन घर वालों के प्रयास से उसकी जान बच गई। वहीं शुक्रवार को उसके प्रेमी ने जहर खाकर प्यार के लिए दुनिया को अलविदा कह दिया। प्रेमी की जेब से एक पत्र भी मिला, जो उसकी प्रेमिका ने थाना प्रभारी के नाम लिखा था जिसमें उसने स्पष्ट कहा है कि उसके पिता व चाचा उसकी जान ले सकते हैं। उसकी मौत के लिए वे ही जिम्मेदार होंगे।

थाना सिरौली क्षेत्र के दो अलग-अलग गांव के युवक युवती ग्राम अजमेर के एक इंटर कालेज में साथ-साथ पढ़ते थे। यहीं से उनके बीच प्रेम प्रसंग हुआ। किन्हीं कारणों से युवक की पढ़ाई छूट गई। वह गुड़गांव में जाकर टेंपो चलाने लगा। वहीं युवती वकालत की पढ़ाई को चली गई लेकिन दोनों ने अपने प्रेम सम्बन्धों को जारी रखा। युवती ने अपने परिवार वालों से रिश्ते की बात कही लेकिन वहां से मना कर दिया गया। दोनों की फोन पर वार्ता जारी रही, चार दिन पहले प्रेमिका ने जहर खाकर आत्महत्या का प्रयास किया लेकिन उसे समय पर उपचार दिलाकर उसे बचा लिया गया। आरोप है कि इस प्रयास के बाद उसके पिता तथा चाचा आदि ने युवक को तरह तरह की धमकियां दीं। युवक मंगलवार को गांव वापस आ गया। शुक्रवार को उसने जहर खाकर खाकर जान दे दी।

मृतक की मां ने बताया कि पति से अनबन के बाद वह मायके अजमेर में रह रही थी। उसका पुत्र गुड़गांव में टेंपो चलाता था। उसने आरोप लगाया कि ग्राम शहबाजपुर व कल्यानपुर के कुछ लोग उसके पुत्र को लगातार जान से मारने की धमकी दे रहे थे। इससे डरकर उसके पुत्र ने आत्महत्या कर ली। इस मामले में उसने चार लोगों के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने की तहरीर दी है। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप