जागरण संवाददाता, बरेली:

गांव के युवक से प्रेम करने वाली किशोरी की हत्या कर दी गई। सोमवार को उसका शव जंगल जाने वाले रास्ते पर मिला। हमलावर से बचने के लिए उसने संघर्ष किया मगर, खुद को नहीं बचा सकी। रस्सी से गला दबाकर हत्या के बाद शव को करीब सौ मीटर घसीटा गया। सुबह को बेटी का शव देखने के बाद हत्या का आरोप लगाने वाला पिता अचानक कार्रवाई से पीछे हट गया। पुलिस इस पर आशंका जताते हुए प्रकरण से जुटे सुराग जुटा रही।

क्षेत्र के एक गांव में रहने वाली किशोरी की मां का निधन हो चुका है। वाहन चालक दोनों भाई अक्सर बाहर रहते हैं। रविवार की रात को वह कमरे में, जबकि उसके पिता आंगन में सो रहे थे। सोमवार सुबह पिता की आंख खुलती, इसके पहले गांव की महिलाओं ने शोर किया कि किशोरी का शव घर से कुछ दूरी पर पड़ा है। मौके पर पहुंचे पिता ने शव देखा तो गले पर रस्सी के निशान थे, खून भी निकला था। उन्होंने हत्या का आरोप लगाते हुए पुलिस बुला ली।

गोशाला में हुआ संघर्ष

जहां शव मिला, वहां से करीब सौ मीटर दूर गोशाला है। वहां भूसा भी भरा रहता है। किशोरी के कपड़ों पर भूसा लगा हुआ था, जमीन पर घसीटे जाने के निशान भी थे। उसके कुर्ते का फटा हुआ कुछ हिस्सा गोशाला में मिला। जांच के दौरान ही सीओ अजय भारती डाग स्क्वाड व फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट टीम बुलाकर साक्ष्य एकत्र कराए।

गांव के युवक से था प्रेम प्रसंग

पुलिस के अनुसार, किशोरी का गांव के एक युवक से प्रेम प्रंसग था। सुबह उसके पिता ने अज्ञात पर हत्या का आरोप लगाया मगर, तहरीर नहीं दी। दोपहर को कह दिया कि कार्रवाई नहीं चाहता। ऐसे में आनर किलिंग का शक भी गहरा रहा। सीओ का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई करेंगे।

Edited By: Jagran