बरेली (जेएनएन)। भाजपा सरकार में कद्दावर मंत्रियों में शुमार रहे पूर्व स्वास्थ्य मंत्री डॉ. दिनेश जौहरी के बेटे और बीसीसीआइ के मौजूदा सीईओ राहुल जौहरी के मी टू के फेर में फंसने की चर्चा शनिवार को सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुई।

बरेली में ही पले-बढ़े और रुहेलखंड विश्वविद्यालय से एमबीए करने वाले राहुल के ऐसा करने पर एक पल के लिए किसी को यकीन नहीं हुआ। उनके और परिवार के शुभचिंतक इसे गलत बताते रहे। दरअसल, राहुल जौहरी ने अपनी शुरुआती और उच्च शिक्षा की पढ़ाई बरेली से ही की है। एमबीए में उनके साथ पढ़ने वाले लोगों ने बताया कि राहुल अपने काम और लक्ष्य को लेकर जुनून की हद तक जाते थे। मुझे नहीं लगता कि वह ऐसा कर सकते हैं। असलियत क्या है, यह जांच के बाद ही साफ होगा।