बरेली, जेएनएन : लॉकडाउन के बाद अनलॉक-1 में जिला प्रशासन ने रोस्टर व्यवस्था को बरकरार रखा है। शारीरिक दूरी के प्रतिबंध के साथ बाजार रात नौ बजे तक खोलने की छूट दी गई है। यही वजह रही कि सोमवार को पहले दिन बाजार में खूब भीड़ दिखी। लोग मास्क लगाए या अंगोछा लपेटे तो दिखे पर अधिकतर स्थानों पर शारीरिक दूरी का पालन होता नहीं दिखा। अब जिम्मेदारी हमारी है कि खुद को सुरक्षित रखने के लिए सतर्कता बरतते हुए घरों से बाहर निकलें। बाजार में भी मानकों का पालन करें।

पुराने रोस्टर में सोमवार को कपड़े की दुकानें खुलवाने के निर्देश थे। नया रोस्टर रविवार की रात जारी हुआ। बड़ा बाजार और कटरा मानराय के कई दुकानदार पुराने रोस्टर के मुताबिक बाजार पहुंचे। दुकानों के आधे-आधे शटर उठ गए। ग्राहक भी आए, लेकिन खरीद-फरोख्त नहीं हो सकी। पुलिस ने प्रशासन के रोस्टर का हवाला देते हुए दुकानें बंद कराईं। कुछ ऐसा ही हाल, दूसरे बाजारों का भी रहा। अब घड़ी-चश्मा बेचने वालों ने रखे मोबाइल बाजार में नया ट्रेंड शुरू हो गया है। दुकानें सप्ताह के सभी सात दिन खोलने के लिए दुकानदारों ने दो तरह के उत्पाद रखने शुरू किए है।

सिविल लाइंस में घड़ी, चश्मा बेचने वालों ने मोबाइल रखना शुरू किया है। घड़ी, चश्मा वालों को सोमवार, बुधवार, शुक्रवार की अनुमति है। जबकि मोबाइल की दुकानों को मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को अनुमति है। इस तरह से ये दुकानें सातों दिन खुल जाएंगी। व्यापारियों का एक गुट डीएम नितीश कुमार से मिलकर इन गड़बड़ियों से वाकिफ कराने की तैयारी कर रहा है। नेता हैं तो क्या सात दिन दुकान खोलेंगे कपड़ा एसोसिएशन की आड़ में एक नेताजी अपनी बड़ा बाजार में थोक कपड़े की दुकान को सात दिन चला रहे हैं। इससे कपड़े के अन्य व्यापारियों में रोष है।

सोमवार को भी उनके गोदाम से कपड़े की गांठें ट्रॉली पर लादकर भेजी जाती रहीं। पुलिस पहुंची भी, लेकिन दोपहर तक गांठें भेजी गईं। अब व्यापारियों का कहना है कि एसोसिएशन की आड़ में वह अपना व्यवसाय सातों दिन जारी रखे हुए हैं। अफसर लेते रहे जायजा डीएम नितीश कुमार और एसएसपी शैलेश पांडेय दुकानों के खुलने के समय पर बाजार में घूमते रहे। हालांकि इस दौरान उनकी गाड़ी कहीं रुकी नहीं। डीएम नितीश कुमार की लोगों से अपील है कि बाजार में बेहद जरूरत पड़ने पर ही जाएं। अनावश्यक भीड़ न लगाएं।

रोस्टर में बदलाव हुए हैं। व्यापारियों की समस्याओं के बारे में विचार किया जा रहा है। फिलहाल रोस्टर के मुताबिक ही बाजार खुलेंगे। भ्रम की स्थिति पैदा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होगी। - नितीश कुमार, डीएम

दुकानें रोस्टर के मुताबिक ही खुलनी हैं। लोगों को बाजार में भी सुरक्षा के मानकों का पालन करना है। अगर ऐसा नहीं हुआ तो पुलिस को सख्ती करनी पड़ेगी। लोगों को अपनी जिम्मेदारी का एहसास होना चाहिए। - शैलेश पांडेय, एसएसपी

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस